एसआरएन को ऐसा विकसित करेंगे कि एम्स और पीजीआई नहीं जाना पड़ेगा : डिप्टी सीएम

प्रयागराज । उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शनिवार को कहा कि स्वरूपरानी अस्पताल को इस तरह विकसित करेंगे कि किसी भी प्रकार के गंभीर मरीज को इलाज के लिए परेशानी नहीं होगी। मरीज को यहां से पीजीआई या एम्स रेफर करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अस्पताल को विकसित करने के लिए मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने प्रस्ताव भेजा है। उस पर विचार किया जा रहा है। जल्द ही स्वरूपरानी अस्पताल को अत्याधुनिक उपकरणों से सुसज्जित करेंगे। एम्स जैसी मेडिकल की सभी सुविधाएं स्वरूपरानी अस्पताल में होंगी।

मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर प्रीतमदास प्रेक्षागृह में आयोजित मेडिकल एथिक्स सेमिनार के आयोजन में मुख्य अतिथि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सभी डाक्टरों, कर्मचारियों, एंबुलेंस चालक, पैरामेडिकल स्टाफ समेत स्वास्थ्य विभाग से जुड़े सफाई कर्मचारियों को बधाई दी। कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में सभी ने दिन रात मेहनत करके लोगों की जान बचाई। इसके लिए उन्होंने सभी का आभार जताया। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि मेडिकल एथिक्स सेमिनार का आयोजन किया गया था। आज एक साल पूरा होने पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने उपस्थित होकर डॉक्टरों का हौसला बढ़ाया। इस कार्यक्रम के संयोजक डॉ. शबी अहमद स्वरूपरानी अस्पताल के अधीक्षक समेत अन्य प्रमुख डॉक्टर मौजूद रहे।

Check Also

नगर निगम में अधिकारी पड़े सुस्त, नहीं किसी को शहर की सुध

Author : Rishabh Tiwari कानपुर। कानपुर नगर निगम का यूं तो शहर को साफ सुथरा और …