बेसिक शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार पर योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई

बेसिक शिक्षा विभाग में गड़बड़ियों के मामले में प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई की। साक्षरता निदेशक, वैकल्पिक शिक्षा, उर्दू एवं प्राच्य भाषाएं संजय सिन्हा को निलंबित कर दिया गया है। उनके विरुद्ध विभागीय जांच के साथ-साथ विजिलेंस जांच के भी आदेश दिए गए हैं। फर्रूखाबाद के पूर्व बीएसए अनिल कुमार और प्रयागराज के शिक्षा निरीक्षण के पटल सहायक श्रवण कुमार श्रीवास्तव को भी निलंबित कर दिया गया है। हाथरस के बीएसएस मनोज कुमार मिश्र को भी हटा दिया गया है। वहीं, बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव प्रताप सिंह बघेल को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा रेणुका कुमार ने बताया कि संजय सिन्हा पूर्व में लगभग नौ वर्षों तक बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव रहे। उनके इस कार्यकाल के दौरान विभिन्न तिथियों में गंभीर अनियमितताएं किए जाने की शिकायतें मिली थीं। महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने शिकायत से संबंधित 20 बिन्दुओं की जांच की। लगभग एक वर्ष तक चली जांच में संजय सिन्हा पर अनियमित रूप से लगभग एक हजार अध्यापकों के स्थानान्तरण का अनुमोदन किए जाने तथा नौ से 10 जिलों में मृतक आश्रित के रूप में अभ्यर्थियों की अनियमित नियुक्तियां व अनियमित चयन का अनुमोदन किए जाने की गंभीर शिकायत प्रमाणित पाई गई।

भ्रष्टाचार के प्रति शासन की जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत संजय सिन्हा को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। विभागीय कार्रवाई में विशेष सचिव बेसिक शिक्षा डॉ. काजल को जांच अधिकारी बनाया गया है। संजय सिन्हा के साथ ही बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव कार्यालय के सभी पटल सहायकों के विरुद्ध सतर्कता जांच कराई जाएगी। बेसिक शिक्षा परिषद के वर्तमान सचिव प्रताप सिंह बघेल को जांच में सहयोग न करने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

पूर्व बीएसए समेत दो निलंबित 
अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा ने बताया कि फर्रूखाबाद में तैनाती की अवधि में सहायक अध्यापकों के चयन में बरती गई गंभीर अनियमितता के लिए तत्कालीन बीएसए और मौजूदा समय में बेसिक शिक्षा परिषद के उप सचिव अनिल कुमार को निलंबित कर दिया गया है। शासन के आदेशों का समय से अनुपालन न किए जाने तथा प्रकरणों को अनावश्यक रूप से विलंबित कर पत्रावलियों को अपने उच्चाधिकारियों के सामने प्रस्तुत न किए जाने के लिए शिक्षा निरीक्षण अनुभाग प्रयागराज के पटल सहायक श्रवण कुमार श्रीवास्तव को भी निलंबित कर दिया गया है। हाथरस के बीएसए मनोज कुमार मिश्र को पद से हटाते हुए अगले आदेशों तक शिक्षा निदेशक बेसिक लखनऊ के कार्यालय से संबद्ध किया गया है। गंभीर अनियमितताओं तथा जन प्रतिनिधियों के प्रति मनमाना एवं अशोभनीय व्यहार किए जाने संबंधी मामले की विस्तृत जांच प्रचलित जारी होने के कारण उन्हें हटाया गया है।

कुल पांच पर हुई कार्रवाई
– संजय सिन्हा, साक्षरता निदेशक और तत्कालीन सचिव बेसिक शिक्षा परिषद प्रयागराज निलंबित
– अनिल कुमार, उप सचिव बेसिक शिक्षा परिषद व फर्रूखाबाद के पूर्व बीएसए निलंबित
– श्रवण कुमार श्रीवास्तव, पटल सहायक शिक्षा निरीक्षण अनुभाग प्रयागराज निलंबित
– मनोज कुमार मिश्र, हाथरस बीएसए हटाए गए, शिक्षा निदेशक बेसिक लखनऊ कार्यालय से संबद्ध
– प्रताप सिंह बघेल, सचिव बेसिक शिक्षा परिषद को कारण बताओ नोटिस जारी

इन गड़बड़ियों में फंसे 
1000 अध्यापकों के स्थानान्तरण का अनुमोदन किया
नौ से 10 जिलों में मृतक आश्रितों की नियुक्तियों को भी मंजूरी दी

कई अन्य भी आएंगे जद में
बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव का पूरा स्टाफ सतर्कता जांच के दायरे में होगा

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्कूली बच्चों के साथ बनाया आजादी का अमृत महोत्सव

लखनऊ,द ब्लाट। हाथों में राष्ट्रध्वज तिरंगा, मन में राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने की …