आवास ऋण पर नरम ब्याज दर जारी रहेगी, घर खरीदारों को होगा लाभ : रियल्टी उद्योग

नई दिल्ली । भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों को यथावत रखने के निर्णय का स्वागत करते हुए रियल एस्टेट उद्योग ने कहा है कि आवास ऋण पर निचली ब्याज दरें जारी रहने से घरों की मांग में सुधार लाने में मदद मिलेगी। महामारी की दूसरी लहर की वजह से घरों की मांग बुरी तरह प्रभावित हुई है। उद्योग ने तरलता की स्थिति सुधारने के लिए और कदम उठाने की मांग की। क्रेडाई के अध्यक्ष हर्षवर्धन पटोडिया ने कहा, ‘‘रिजर्व बैंक ने अपने नरम रुख को जारी रखा है। कोविड-19 महामारी के प्रभाव से निपटने को यह जरूरी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ईसीएलजीएस योजना में संशोधन तथा बैंकों को स्पष्ट निर्देश कि वे रियल एस्टेट जैसे श्रम गहन क्षेत्रों को कर्ज उपलब्ध कराएं। यह आज समय की जरूरत है।’’ नारेडको के अध्यक्ष निरंजन हीरानंदानी कहा कि रिजर्व बैंक ने नीतिगत दरों को यथावत रखा है जिससे आवास ऋण ग्राहकों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक ने कोविड-19 महामारी की चुनौतियों के मद्देनजर यह कदम उठाया है, लेकिन इससे आवास ऋण ग्राहकों को फायदा होगा। टाटा रियल्टी एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) संजय दत्त ने मौद्रिक नीति को एक अच्छी खबर करार दिया। सीबीआरई के चेयरमैन एवं सीईओ…भारत, दक्षिण-पूर्व एशिया, पश्चिम एशिया और अफ्रीका अंशुमान मैगजीन ने कहा कि रिजर्व बैंक के नरम रुख से घर खरीदारों की धारणा को कायम रखने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि रेपो दर और रिवर्स रेपो दर को यथावत रखा गया है जिससे बैंक और एनबीएफसी घर खरीदारों को कम दरों पर ऋण उपलब्ध कराएंगे जिससे उद्योग की मांग सुधारने में मदद मिलेगी। नाइट फ्रैंक इंडिया के प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा कि कंपनियों के साथ परिवारों को भी तत्काल मौद्रिक समर्थन उपलब्शध कराने की जरूरत है। एनारॉक के चेयरमैन अनुज पुरी ने मौद्रिक नीति को घर खरीदारों की दृष्टि से सकारात्मक बताया। इंडिया सॉथबे इंटरनेशनल रियल्टी के सीईओ अमित गोयल ने कहा कि नीतिगत समीक्षा से स्पष्ट है कि आवास ऋण पर ब्याज दरें ऐतिहसिक निचले स्तर पर बनी रहेंगी। पोद्दार हाउसिंग के प्रबंध निदेशक रोहित पोद्दार ने कहा कि रिजर्व बैंक की नीति बाजार के अनुमानों के अनुरूत रही है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता मांग बढ़ने से ही उद्योगों को बल मलेगा और इस समय जरूरत है कि कोविड का टीका तेजी से लगाया जाए। हाउसिंग.कॉम, मकान.कॉम और प्रॉपटाइगर के समूह सीईओ ध्रुव अग्रवाल ने कहा कि रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों को यथावत रखने का फैसला उम्मीद के अनुरूप है। उन्होंने कहा कि बैंकिंग क्षेत्र के नियामक को राष्ट्रीय आवास बैंक को मौद्रिक समर्थन की घोषणा करनी चाहिए।

Check Also

मेटा ने क्वेस्ट 1 मालिकों के लिए अपना सबसे बड़ा वीआर गेम बंद किया

  द ब्लाट न्यूज़ । मेटा पॉपुलेशन: वन के लिए क्वेस्ट 1 वर्चुअल रियलिटी (वीआर) …