कानपुर के गन हाउस से जुड़े हैं असलहा तस्करी के तार

रिपोर्ट: ऋषभ तिवारी

कानपुर। पुलिस हिरासत में असलहा तस्कर राजकिशोर राय हथियार खरीदने के लिए लाइसेंस धारकों को भी साथ लाता था। हर बार शस्त्र विक्रेता की ओर से बुक कराए गए होटल में रुकता था। मेस्टन रोड से अन्य खरीदारी भी करता था। शनिवार को पूछताछ के दौरान उसने एटीएस को यह जानकारी दी। टीम अब उसके आने-जाने का रिकॉर्ड भी जुटा रही है। हालांकि, आरोपित ने साथियों के असली नाम व पते नहीं बताए हैं। रविवार को कस्टडी रिमांड खत्म होने पर उसे वापस जेल भेजा जाएगा।

राजकिशोर राय को एटीएस ने पिछले सप्ताह झारखंड के देवघर में गिरफ्तार किया था। गुरुवार को चार दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर लिया गया। इसके बाद शुक्रवार को एटीएस टीम उसे लेकर कानपुर आई और मेस्टन रोड पर पैदल ले गई। वहां उसने शस्त्र दुकानों पर लगे बोर्ड देखकर उनकी पहचान की और कहा कि इन्हीं दुकानों से ट्रांजिट शस्त्र लाइसेंस के जरिए हथियार खरीदे थे।

सूत्रों के माने तो आरोपित ने खुद को दिल की बीमारी और ब्लड प्रेशर का मरीज बताया और ज्यादा पैदल चलने से मना कर दिया था। इसके बाद टीम उसे लखनऊ ले गई। टीम ने साथियों के नाम पूछे, लेकिन उसने जानकारी से इन्कार कर दिया। केवल इतना कहा कि वर्ष 2014 से 2016 के बीच वह शस्त्र लाइसेंस धारकों को भी लेकर आया था और हथियार ले गया था।

Check Also

नगर निगम में अधिकारी पड़े सुस्त, नहीं किसी को शहर की सुध

Author : Rishabh Tiwari कानपुर। कानपुर नगर निगम का यूं तो शहर को साफ सुथरा और …