लखनऊ:रालोद कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन,डीएम को सौंपा ज्ञापन

THE BLAT NEWS:

लखनऊ ,। किसान संदेश अभियान के तहत पूरे प्रदेश के जिला मुख्यालयों पर मुख्यमंत्री को चार सूत्रीय मांगों का संबोधित ज्ञापन धरना देकर जिलाधिकारी के माध्यम से सौंपा गया। उक्त बातें रालोद के प्रदेश मीडिया प्रभारी सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी ने बताया कि प्रदेश की राजधानी में भी महानगर अध्यक्ष आशीष तिवारी तथा जिलाध्यक्ष रफी अहमद सिद्दीकी की अध्यक्षता में रालोद नेताओं ने ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।
Image result for लखनऊ:रालोद कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन,डीएम को सौंपा ज्ञापन
वरिष्ठ नेता एवं पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष वसीम हैदर,अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष आरिफ महमूद,वरिष्ठ नेता एवं पूर्व महासचिव रजनीकांत मिश्रा,अवध क्षेत्र के संगठन महासचिव चंद्रकांत अवस्थी, वरिष्ठ नेता अफसर अली एवं रमावती तिवारी,प्रमोद शुक्ला,अनितया मिश्रा,मोहम्मद रंजन ने ज्ञापन के माध्यम से सोई हुयी सरकार को जगाने का काम किया। ज्ञापन में रालोद नेताओं ने कहा कि वर्तमान सत्र में 4 महीने गन्ना मिलों को चलते हो गये है,लेकिन आज तक गन्ने के लाभकारी मूल्य की घोषणा नहीं हुयी। किसान इकलौता ऐसा उत्पादक है जिसको अपने उत्पाद का मूल्य तय करने का भी अधिकार नहीं है। अपने खून पसीने से सींची हुई फसल को मिल मालिकों को देता जाता है,लेकिन उनको यह नहीं पता होता है कि उनकी फसल का कितना पैसा मिलेगा। रालोद द्वारा सवा माह से किसान संदेश अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत पूरे प्रदेश से 4 लाख से अधिक किसानों ने किसान संदेश अभियान के माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर गन्ना मूल्य की घोषणा कराये जाने की मांग कर चुके हैं,लेकिन अभी तक गन्ना मूल्य की घोषणा नहीं की गयी है। जिससे गन्ना किसानों में भारी निराशा और असंतोष व्याप्त है। ज्ञापन में रालोद नेताओं ने मांग की कि सत्र 2022-23 का गन्ने का लाभकारी मूल्य की घोषणा की जाए,आवारा पशुओं से किसानों की फसल बचाने के लिए उचित समाधान किया जाए, बकाया गन्ना मूल्य का ब्याज सहित भुगतान कराया जाए तथा ब्रज क्षेत्र में आलू निर्यात केन्द्र की स्थापना की जाए तथा आलू का समुचित मूल्य सरकार निर्धारित करें। रालोद नेताओं ने चेतावनी देते हुये कहा कि अगर जल्द ही किसानों की समस्याओं का समाधान न किया गया तो रालोद कार्यकर्ता व पदाधिकारी प्रदेश के सभी मंडलों में सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरकर विशाल धरना प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगीं।

Check Also

69000 शिक्षक भर्ती:अभ्यर्थियों का मंत्री आवास पर प्रदर्शन

THE BLAT NEWS: लखनऊ। 69 हजार शिक्षक भर्ती की चयन सूची में शामिल अभ्यर्थियों ने …