टोनी क्रूस ने ‘टूटे’ सपने के साथ लिया पेशेवर फुटबॉल से संन्यास

स्टटगार्ट। 2024 यूरो में अब तक का सबसे बड़ा उलटफेर तब हुआ जब मेजबान जर्मनी को स्पेन के हाथों एक रोमांचक मुकाबले में 2-1से हार का सामना करना पड़ा।

यह हार जर्मनी के लिए काफी निराशाजनक रही, क्योंकि उनके स्टार खिलाड़ियों में से एक टोनी क्रूस ने इस हार के बाद संन्यास ले लिया है।

उन्होंने पहले कहा था कि वे यूरोपीय चैम्पियनशिप के खत्म होने के बाद खेलना जारी नहीं रखेंगे। हार के बाद क्रूस ने खुलासा किया कि यूरो जीतने का उनका सपना ‘टूट गया है।

क्रूस ने पोस्ट गेम कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों से कहा, ईमानदारी से कहूं तो, अभी मुख्य भावना यह है कि टूर्नामेंट खत्म हो गया है, क्योंकि हम सभी के पास एक बड़ा लक्ष्य था जिसे हम एक साथ हासिल करना चाहते थे, और यह सपना जो हम सभी ने देखा था, अब बस टूट गया है।

34 वर्षीय खिलाड़ी पिछले दशक में खेलने वाले सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक रहे हैं और उनके पास कई ट्रॉफी हैं, जिनके बारे में कई लोग केवल सपने ही देख सकते हैं। हालाँकि, यूरोपीय चैम्पियनशिप उनकी आखिरी उपलब्धि होती, क्योंकि यह एकमात्र प्रतियोगिता है जिसे उन्होंने अपने करियर में नहीं जीता।

जर्मन प्रशंसकों को अपनी टीम के प्रदर्शन पर गर्व होगा क्योंकि जूलियन नैगल्समैन के नेतृत्व में एक पुनर्जीवित जर्मन टीम ने कम समय में ही काफी सुधार किया है। टीम आठ साल बाद किसी प्रमुख अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल चरण में पहुँची।

जर्मन मिडफील्डर ने कहा, हम सभी को गर्व हो सकता है क्योंकि हमने सुधार किया है। मुझे खुशी है कि मैंने जर्मनी को एक फुटबॉल राष्ट्र के रूप में फिर से उम्मीद जगाने में मदद की है। भविष्य में मुझे यकीन है कि टीम सफल होगी, लेकिन आज हम दुखी हैं क्योंकि हम इस प्रतियोगिता में थोड़े और समय तक बने रहना चाहते थे।

रियल मैड्रिड के दिग्गज खिलाड़ी क्रूस ने कहा, मैं यह नहीं कहूंगा कि यह सबसे कठिन मैच था, लेकिन हमने इसमें अपना सबकुछ झोंक दिया। हम हारना नहीं चाहते थे, हम इतने करीब थे। अब इस समय बाहर होने से सब कुछ खत्म हो गया है। हमें एहसास होगा कि हमने अच्छा टूर्नामेंट खेला है, लेकिन अगले दौर में पहुंचने के इतने करीब होना मुश्किल है।

Check Also

पेरिस 2024 फुटबॉल: मेसी की अनुपस्थिति में अर्जेंटीना की नजर स्वर्ण पर

नई दिल्ली । अर्जेंटीना, अपने करिश्माई खिलाड़ी लियोनेल मेसी के बिना भी, आगामी पेरिस ओलंपिक …