जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य समिति की की समीक्षा, दिए निर्देश

Kanpur, ब्यूरो। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की शासी निकाय की बैठक हुई जिसमें चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे राष्ट्रीय वेक्टर जनित कार्यक्रम, राष्ट्रीय कुष्ठ निवारण कार्यक्रम, पुनरीक्षित क्षय नियंत्रण कार्यक्रम, परिवार कल्याण कार्यक्रम, जननी सुरक्षा योजना,राष्ट्रीय अंधता नियंत्रण कार्यक्रम, राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन, नियमित टीकाकरण कार्यक्रम आदि की प्रगति समीक्षा की गई।

बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी व अपर मुख्य चिकित्साधिकारियों के साथ अन्य बैठक में मौजूद अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि समस्त विभागाध्यक्ष/चिकित्सा अधीक्षक चिकित्सालय में साफ सफाई की व्यवस्था, मरीजो की बैठने की व्यवस्था, पीने के पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करें और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत संचालित कार्यक्रमो में आशाओं एवं एएनएम के शतप्रतिशत भुगतान किये जाए। वही जिलाधिकारी को परिवार कल्याण कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान जानकारी मिली कि परिवार कल्याण कार्यक्रम के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2023-24 में स्वीकृत धनराशि के सापेक्ष व्यय कम है, जिस पर मुख्य विकास अधिकारी को उन्होंने समीक्षा करने को कहा। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि जिला स्वास्थ्य समिति में प्रस्तुत अनुमोदन शानदेश एवं एनएचएएम की गाइड लाइन के अनुसार प्रस्ताव किए जाए। और जननी सुरक्षा योजना कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान यह पाया गया कि विगत वर्ष 2023 के सापेक्ष वर्ष 2024 में सिजेरियन प्रसव तथा सामन्य प्रसव में कमी पाई गई, जिसके संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया गया कि संबंधित प्रभारी डाक्टर की जिम्मेदारी तय करते हुए कार्रवाई सुनिश्चित किया जाए तथा पूर्व में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घाटमपुर में तैनात गायनी जिनकी वतर्मान तैनाती चौबेपुर में है उनको पुन : घाटमपुर में तैनात करने को कहा। जिलाधिकारी ने कहा टीकाकरण कार्यकम की समीक्षा के दौरान सभी वीएचएनडी

सत्रो पर डाइग्नोस्टिक, एचआईवी किट, सिफलिस किट की उपलब्धता शतप्रतिशत किया जाए। इस दौरान बैठक में मुख्य विकास अधिकारी सुधीर कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी आलोक रंजन, समस्त अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, विभिन्न योजनाओं के नोडल अधिकारी, समस्त जिला स्तरीय चिकित्सालयों के प्रतिनिधि आदि अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Check Also

लखनऊ: सरकार की नीतियों के खिलाफ पलीता लगा रहा पंचायती राज का बाबू

देश के विकास में ग्राम पंचायतों का बहुत बड़ा महत्व रहता है ऐसे में पंचायती …