राहुल पर तंज को लेकर मल्लिकार्जुन खरगे ने पीएम मोदी पर किया पलटवार

नई दिल्ली: कांग्रेस प्रमुख मल्लिकार्जुन खरगे ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जमकर घेरा. उनके राहुल गांधी पर अमेठी से भागने की बात पर उन्होंने कहा कि भाजपा के प्रतीक लालकृष्ण आडवाणी और अटल बिहारी वाजपेयी ने भी दो सीटों से लोकसभा चुनाव लड़ा था. दरअसल, राहुल गांधी ने शुक्रवार को रायबरेली से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. वह केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़ रहे हैं.

मल्लिकार्जुन खरगे ने बताया कि 2014 के आम चुनाव में पीएम मोदी ने दो सीटों- वाराणसी और वडोदरा से चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी. बाद में उन्होंने वडोदरा सीट से इस्तीफा दे दिया. मल्लिकार्जुन खरगे ने प्रधानमंत्री पर ओछी बातें करने और अपनी गरिमा त्यागने का आरोप लगाया. उन्होंने दावा किया कि पीएम मोदी डरे हुए हैं. उन्होंने कहा, “वह अपनी मर्यादा छोड़कर छोटी-मोटी बातें करते हैं और हमले करते हैं. उन्हें जवाब देने का कोई मतलब नहीं है. कौन डरता है?” उन्होंने आगे कहा, “क्या लालकृष्ण आडवाणी ने दो सीटों से नामांकन दाखिल नहीं किया? क्या अटल बिहारी वाजपेयी ने ऐसा नहीं किया? मोदी ने खुद भी ऐसा किया.”

पीएम मोदी ने पश्चिम बंगाल की रैली में कसा था राहुल पर तंज

वहीं दूसरी तरफ शुक्रवार (3 मई 2024) को पश्चिम बंगाल में एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी और सोनिया गांधी पर जमकर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि वायनाड से हार के डर से राहुल गांधी अपने लिए सुरक्षित सीट तलाश रहे हैं. वे डरें नहीं या “भागने” की कोशिश न करें. मैंने आपको पहले भी बताया था कि वायनाड में हार के डर से शहजादा अपने लिए एक और सुरक्षित सीट की तलाश शुरू कर देगा. वह 2019 में अमेठी हारने के बाद इतना डर गया था कि उसने वायनाड की ओर रुख किया. अब, वह भाग गया है.

इस बार अमेठी की जगह रायबरेली से लड़ रहे राहुल

बता दें कि 2019 तक अमेठी राहुल गांधी का गढ़ था. हालांकि 2019 में स्मृति ईरानी ने राहुल को 55000 से अधिक वोटों से हराया था. गांधी परिवार के वफादार किशोरी लाल शर्मा वहां से कांग्रेस के उम्मीदवार हैं. दूसरी तरफ रायबरेली में राहुल गांधी का मुकाबला बीजेपी के दिनेश प्रताप सिंह से होगा.

 

Check Also

नौकरी के नाम पर हो रही थी वसूली, रेस्क्यू कर बचाए गए 105 युवक-युवती

रामगढ़ । झारखंड के सुदूरवर्ती इलाकों में गरीब परिवारों के बच्चों को बड़ी ही चालाकी …