खुदरा विक्रेताओं के संगठन ने महाराष्ट्र सरकार से मॉल, शॉपिंग सेंटर खोलने का आग्रह किया


नई दिल्ली । रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आरएआई) ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के कारण लंबे समय तक मॉल बंद रहने से लगभग दो लाख नौकरियां प्रभावित हुई हैं और राज्य सरकार से आग्रह किया कि उन्हें आवश्यक सुरक्षा उपायों के साथ काम करने की इजाजत दी जाए।

आरएआई ने एक बयान में कहा कि प्रतिबंधों ने पूरे परिवेश को ”गंभीर खतरे” में डाल दिया है और इससे न केवल व्यवसायों, बल्कि वहां काम करने वाले लोगों की आजीविका को भी नुकसान पहुंचा रहा है।

आरएआई ने कहा, ”महाराष्ट्र में लंबे समय तक बंद रहने से लगभग 50 मॉल प्रभावित हुए हैं, जो दो लाख से अधिक लोगों को रोजगार देते हैं, 40,000 करोड़ रुपये का कारोबार करते हैं और बतौर जीएसटी 4,000 करोड़ रुपये देते हैं।”

आरएआई ने आगे कहा, ”इसने मॉल से जुड़े सभी व्यवसायों को प्रभावित किया है। एक मॉल में औसतन 200 खुदरा स्टोर संचालित होते हैं और 5,000 से अधिक कारोबारी संस्थाएं आपूर्तिकर्ता और विक्रेता के रूप में इनसे जुड़ी होती हैं। मॉल को फिर से शुरू करने से उनके वजूद को बचाने में मदद मिलेगी।

Check Also

तेल कंपनियों की ओर से आज फिर पेट्रोल-डीजल बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम ,जानिये आज का रेट 

सरकारी तेल कंपनियों की ओर से आज फिर पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी हुई है। आज डीजल …