भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में ‘विकसित भारत, मोदी की गारंटी’ राजनीतिक प्रस्ताव पारित

नई दिल्ली । भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अधिवेशन की बैठक के पहले दिन ‘विकसित भारत, मोदी की गारंटी’ का राजनीतिक प्रस्ताव पारित किया गया। शनिवार को भारत मंडपम में शुरू हुए राष्ट्रीय अधिवेशन के पहले दिन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राजनीतिक प्रस्ताव रखा, जिसमें नरेन्द्र मोदी सरकार की 20 उपलब्धियां शामिल की गई। इस प्रस्ताव का समर्थन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्य मंत्री एल. मुरुगन ने किया।

इस प्रस्ताव में नरेन्द्र मोदी के दस साल के कार्यकाल की उपलब्धियां और गारंटी, अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण, जी20 का सफल आयोजन, विधानसभा चुनाव और उपचुनाव में जीत, विकसित भारत संकल्प यात्रा, नरेन्द्र मोदी सरकार में देश की महान सनातन संस्कृति का सम्मान, भारत रत्न और पद्मश्री सम्मान, नया संसद भवन, नारी शक्ति वंदन अधिनियम, भारतीय न्याय संहिता, कोविड प्रबंधन, अर्थव्यवस्था की उड़ान, किसान कल्याण, संदेशखाली में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना की निंदा, मेरा माटी-मेरा देश, हिमाचल में भीषण प्राकृतिक आपदा, इंटरनेशनल इयर ऑफ मिलेट्स, जाति आधारित राजनीति बनाम हर वर्ग का कल्याण शामिल किया गया है।

प्रस्ताव पेश करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में 2047 तक विकसित भारत के लक्ष्य के साथ भारत की छवि एक सक्षम और सशक्त राष्ट्र की उभरकर आई है। देश ने इस दौरान सुरक्षा, समृद्धि और खुशहाली का एक अविरल सफर तय किया है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर देश ने पंच प्रण लेते हुए गुलामी की हर सोच से मुक्ति पाई है। आज हर भारतवासी ने अपनी संस्कृति, अपनी विरासत पर गर्व करना सीखा है। इन 10 साल में भारत ने देश की महान लोकतांत्रिक और संवैधानिक परंपराओं के साथ-साथ देश की सांस्कृतिक विरासत का सम्मान किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय में कृषि के लिए कुल सालाना बजट 25 हजार करोड़ रुपये होता था। लेकिन नरेन्द्र मोदी की सरकार में कृषि कल्याण बजट सवा लाख करोड़ रुपये है। कांग्रेस ने अपने समय में 07 लाख करोड़ रुपये का धान और गेहूं किसानों से खरीदा था। मोदी सरकार ने 10 सालों में करीब 18 लाख करोड़ रुपये से अधिक का धान और गेहूं खरीदा है।

राजनीतिक प्रस्ताव का समर्थन करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि “जैसे-जैसे दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाएं मंदी से गुजर रही हैं, वैश्विक नजरें संपन्न अर्थव्यवस्थाओं की ओर बढ़ रही हैं। अर्थव्यवस्था में भारत से बेहतर कौन हो सकता है, जो वर्तमान में सबसे तेज गति से बढ़ रहा है। अब दुनिया भारत की ओर देख रही है यह पिछले एक दशक में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। अर्थव्यवस्था को ‘कमजोर पांच’ से शीर्ष पांच तक ले जाकर, प्रधानमंत्री मोदी ने भारत की अर्थव्यव्यस्था को आगे बढ़ाया है।

Check Also

आप कार्यकर्ताओं ने आंदोलन कर दिया तेज,आज करेंगे सामूहिक उपवास

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में देश-विदेश में आप कार्यकर्ताओं ने …