बजट में एमएसएमई के नए प्रावधानों पर राहत न मिलने पर एसोसिएशन ने जताई चिंता

सूरत । साउथ गुजरात टेक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन (एसजीटीटीए) की कोर कमेटी ने केन्द्र सरकार के अंतरिम बजट में एमएसएमई को लेकर सरकार की ओर से किसी प्रकार की राहत नहीं देने पर चिंता व्यक्त की।

गुरुवार को कोहिनूर हाउस कार्यालय पर एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनील कुमार जैन की अध्यक्षता में हुई बैठक में एसजीटीटीए की कोर कमेटी ने कहा कि अंतरिम बजट में एमएसएमई के 45 दिन के अंदर पेमेंट संबंधी प्रावधान और आयकर के पेनाल्टी के संबंध में सभी को कुछ बदलाव की आशा थी। इस बजट में इस संबंध में किसी तरह की राहत न मिलने से एसोसिएशन ने निराशा जताई है।

एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनील कुमार जैन ने बताया कि इस एमएसएमई के नए प्रावधानों के चलते कपड़ा बाजार में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। खरीदी ठप हो गई है, देशावर मंडियों से आर्डर आने बंद हो गए हैं। सूरत का व्यापारी अपने कारोबार में आगे की तैयारी को बंद कर चुका है। ऐसे में एसोसिएशन केन्द्र सरकार के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्रालय के साथ बातचीत कर एमएसएमई के नए प्रावधानों के बदलाव को लेकर प्रयास करेगा। नवसारी सांसद सीआर पाटिल ने भी व्यापारियों की चिंता को लेकर आश्वस्त किया है कि वे शीघ्र ही केन्द्र सरकार के समक्ष कपड़ा व्यापारियों की मांग रखेंगे। एसोसिएशन ने कपड़ा व्यापारियों से आग्रह किया है कि चार्टर अकाउंटेंट से सलाह लेकर व्यापार के संबंध में सजगतापूर्वक योजना बनाएं। ताकि किसी भी विषम परिस्थिति से अपने व्यापार की सुरक्षा कर सकें। बैठक में एसोसिएशन के महामंत्री सचिन अग्रवाल, बोर्ड निदेशक व कोषाध्यक्ष सुरेन्द्र जैन, संतोष माखरिया, सुनील मित्तल, सारंग जालान, मोहन कुमार अरोरा आदि मौजूद रहे।

Check Also

प्रधानमंत्री मोदी गुजरात और यूपी का करेंगे दौरा… 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बृहस्पतिवार को अपने गृह राज्य गुजरात और उसके अगले दिन अपने …