डिंडोरी: गल्र्स हॉस्टल में मुर्गा-दारु की दावत, लड़कियां रह गई देखती

द ब्लाट न्यूज़ गल्र्स हॉस्टल में पुरुष की आवाजाही प्रतिबंधित होती हैं। खासतौर पर रात में तो बिल्कुल नहीं। लेकिन मध्य प्रदेश के डिंडौरी जिले का गल्र्स हॉस्टल, कई बार सूरज ढलते ही शराब-मुर्गा पार्टी का अड्डा बन जाता हैं। कुछ ऐसा महीने भर पहले हुए कांड से खुलासा हुआ हैं। इस जिले के कन्या कस्तूरबा गांधी छात्रावास में काम करने वाली कुक ललिया बाई ने इसका खुलासा किया हैं। उसका कहना है कि हॉस्टल अधीक्षिका के फरमान पर इस तरह की पार्टियां होती हैं। जिसमें स्कूल के कुछ पुरुष टीचर, प्यून और जनपद पंचायत से जुड़े कर्मचारियों पर आरोप हैं।

हॉस्टल की महिला कुक के आरोपों के मुताबिक बीते महीने कम्प्यूटर ऑपरेटर दीपक सैयाम, जनपद पंचायत के भृत्य नूतन, शिक्षक कालका प्रसाद मार्को और प्राचार्य साहब सिंह धुर्वे ने उन्हें मुर्गा पकाने के लिए बोला। रात को शराब लेकर पहुंचे तो उसने इस मामले की खबर हॉस्टल अधीक्षक कौशल्या परस्ते को की। लेकिन परस्ते ने यह सब करने से मना करने बजाय मुर्गा समेत खाना बनाने के निर्देश दिए। लड़कियों के सामने सभी ने शराब पी और नॉनवेज खाया।
उसके बाद ऐसा खाना बनाने से मना करने पर हॉस्टल अधीक्षक महिला कुक को नौकरी से निकाल रही हैं।

महीने भर पहले हुई इस गतिविधि की जानकारी क्षेत्र के बीजेपी जिला मंत्री राजेंद्र प्रसाद दुबे को भी लगी। उन्होंने आपत्ति जताते हुए कार्रवाई की मांग की हैं। इधर जनजातीय कार्य विभाग सहायक आयुक्त सन्तोष शुक्ला का कहना है कि मामले की जांच करवाई जा रही हैं, जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई।

दूसरी तरफ मुर्गा पार्टी करने वाले टीचर कालका मार्को ने पार्टी की बात तो स्वीकार की लेकिन उन्होंने मुर्गा या अन्य खाने-पीने का सामान बाहर से इंतजाम होना बताया। शराब पीने के आरोपों को भी मार्को ने सिरे से खारिज किया हैं। अब इस मामले में जांच टीम हॉस्टल की छात्राओं के बयान भी दर्ज करेगी।

Check Also

इंदौर, उज्जैन समेत 18 जिलों में आज तेज बारिश का अलर्ट

भोपाल । मध्‍यप्रदेश में मानसून ट्रफ लाइन और साइक्लोनिक सर्कुलेशन की वजह से आंधी-बारिश की …