एक को देखकर दूसरे को भी उबासी क्यों आने लगती है? आज जानिए क्या है इसका जवाब

द ब्लाट न्यूज़ आपने अक्सर एक चीज नोटिस कि होगी कि जब भी कोई व्यक्ति उबासी लेता है तो उसके सामने बैठे इंसान को भी अपने आप उबासी आने लगती है। कभी सोचा है आखिर ऐसा क्यों होता है। कई बार आपने ध्यान दिया होगा कि लेकिन आपको इसका सही जवाब नहीं मिला होगा।

 

 

उबासी लेने से ठंडा हो जाता है दिमाग?
स्टडी के मुताबिक इंसान जब उबासी लेता है तो इसका सीधा कनेक्शन उसके दिमाग से है। जब भी इंसान उबासी लेता है तो हमारा दिमाग ठंडा हो जाता है। असल बात यह है कि लगातार काम करते-करते हमारा दिमाग गर्म हो जाता है। ऐसे में उबासी लेकर दिमाग धीरे-धीरे ठंडा होने लगता है। अपने आप मुंह खुल जाता है और हमें उबासी आने लगती है। जम्हाई लेने के बाद आप ध्यान देंगे कि हमारा शरीर का टेंपरेचर थोड़ा डाउन पड़ता है। उसके बाद हम काफी देर तक काम कर पाते हैं।

फैल सकता है संक्रमण
रिपोर्ट के मुताबिक आपको अक्सर लंबी उबासी आती है तो इसके साइड इफेक्ट भी है। वह यह कि उबासी लेने से इंफेक्शन भी खतरा बढ़ जाता है। म्यूनिख यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में 300 लोगों पर हुए रिसर्च में यह पता चला कि दूसरों को उबासी लेता देख 150 लोगों को अपने आप उबासी आने लगी थी। यह स्थिति किसी भी बीमारी को फैलाने में सहायक हो सकती है।

जम्हाई लेने से किया जाता है मना
साइंटिस्ट की मानें तो ड्राइवर सीट के बगल में बैठे व्यक्ति को हमेशा क्यों जम्हाई या सोने के लिए मना किया जाता है? क्योंकि पूरे चांसेंस है कि अगर वह जम्हाई लेगा या सोएगा तो ड्राइवर को भी नींद आने लगेगी। जब ड्राइवर के बगल वाले सीट पर व्यक्ति जम्हाई लेता है या सोता है तो ड्राइवर ड्राइवर का मिरर न्यूरॉन सिस्टम एक्टिव हो जाता है। यही साथ वाले व्यक्ति उबासी लेने लगता है. ऐसे में जब भी नींद का एहसास होने लगता है तो एक्सीडेंट का खतरा बढ़ जाता है।

Check Also

अगर ये 5 ट्रिक फॉलो कर लेंगे तो गर्मियों में नहीं होगी घमौरियों की समस्या

THE BLAT NEWS: चिलचिलाती गर्मी का मौसम आ चुका है. पसीने के साथ ही घमौरियां …