अलीगढ़: आर्थिक तंगी और भुखमरी से गुजर रही बीमार माँ समेत दो बेटियों ने की आत्महत्या

द ब्लाट न्यूज़ भारत सरकार ओर उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गरीबों के लिए चलाई जा रही सरकारी योजनाओं की उस वक्त पोल खुल गई। जब पति की मौत के बाद आर्थिक तंगी भूखमरी से जूझ रही एक 55 वर्षीय बीमार विधवा मां ने अपनी दो बेटियों के साथ मौत को गले लगाते हुए आत्महत्या कर ली। जहाँ एक ही परिवार में मां और उसकी दो बेटियों द्वारा रहस्यमयी तरीके से की गई आत्महत्या के बाद इलाके में हड़कम्प मचा हुआ है।

 

 

स्थानीय लोगों की मानें तो पति की मौत के बाद पूरा परिवार भुखमरी और आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। इसी के चलते तीनों ने अपनी जिंदगी को मौत के हवाले करते हुए आत्महत्या कर ली। 55 वर्षीय मां और उसकी दो बेटियों द्वारा भुखमरी और आर्थिक तंगी के चलते की गई आत्महत्या ने सरकार द्वारा चलाई जा रही सरकारी योजनाओं पर स्थानीय लोग सवाल उठाते नजर आ रहे हैं,फिलहाल परिवार में हुई तीन मृत्यु रहस्य बनी हुई है। जबकि एफएसएल टीम को घटनास्थल से बंद पॉलिथीन में मिले संदिग्ध पदार्थ और मौके से जुटाए गए सभी साक्ष्यों को जांच के लिए लैब भेजा गया है। इसके साथ ही थाने पर पुलिस को फ़िलहाल कोई तहरीर नहीं मिली हैं। तीनों मां बेटी के मौत के सही कारणों का पता लगाने के पीएम रिपोर्ट के साथ ही बिसरा को पिजर्व किया जाएगा।बिसरा रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल सकेगा।

दरअसल पूरा मामला जिला अलीगढ़ के थाना ऊपरकोट क्षेत्र के भुजपुरा इलाके के इस्लाम नगर का है जहां की रहने वाली एक परिवार की मां और दो बेटियों ने अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लिया जिसके बाद इलाके में हड़कंप मचा हुआ है बताया जाता है 10 वर्ष पहले नगीना नाम की महिला के पति का केंसर की बीमारी के चलते देहांत हो गया था, जिसके बाद घर में कमाने वाला कोई नहीं रहा किसी तरह से नगीना के द्वारा अपनी 4 बेटियों की शादी करदी दो और बेटियों की शादी होनी थी मां और दो बेटियां दिन में कारखानों में काम कर अपने परिवार का पालन पोषण किया करती थी मां की हालत जब ज्यादा तंग हुई तो दवाई के पैसों के लिए घर में तंगी आने लगी स्थानीय लोगों का कहना है मां बेटियों के लिए खाना आसपास के लोगों के द्वारा दिया जाता था हर रोज स्थिति में गिरावट व इलाज न होने के कारण आर्थिक तंगी घर के लिए सबसे बड़ी मुसीबत बन गई मां ने दम तोड़ दिया तो चंद मिनटों बाद ही दोनों बेटियां भी इस दुनिया को अलविदा कह गई ,तीनों की मौत फिलहाल रहस्य बनी हुई है।

इसकी सूचना जैसे ही स्थाई लोगों को हुई तो इलाके में हड़कंप मच गया ओर मौके पर पहुंची इलाका पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है। वहीं स्थानीय लोगों द्वारा बताया गया मृतिका के घर मे कमाने वाला कोई नहीं था। पांच बेटियों की शादी मृतिका के द्वारा कर दी गई थी, दो बेटियों पर घर की जिम्मेदारी थी, घर के खर्चे ना चलने व खुद की हालत खराब होने के कारण मां ने दम तोड़ दिया। तो दो बेटियां भी इस दुनिया को अलविदा कह गई।

वहीं इस पूरे मामले पर एसएसपी कलानिधि नैथानी का कहना है कि कोतवाली क्षेत्र से पुलिस को मां-बेटी सहित 3 लोगों द्वारा आत्महत्या किए जाने की सूचना पुलिस को मिली थी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू कर दी। प्रथम दृष्टया जांच में सामने आया कि एक 55 वर्षीय महिला नगीना ओर उसकी दो बेटियों ने आत्महत्या कर ली।वहीं स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि 55 वर्षीय मृतक महिला नगीना के पति की कई साल पहले मौत हो चुकी थी। जबकि मृतक महिला पिछले लंबे समय से तबीयत खराब होने के चलते बीमार चल रही थी।

जहा आर्थिक तंगी और भुखमरी के चलते बीमार मां और उसकी दो बेटियों को अपना जीवन बसर करना बहुत ही मुश्किलों भरा था। मौके पर पहुंची एफएसएल टीम ने घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए गए हैं, इस दौरान FSL टीम को मौके से पॉलिथीन के अंदर बंद एक संदिग्ध वस्तु भी मिली। घटनास्थल से एफएसएल टीम के द्वारा जुटाए गए सभी साक्ष्यों को एकत्रित करते हुए फॉरेंसिक लैब भेजा जा रहा है। जबकि मृतक महिला और उसकी दो बेटियों द्वारा की गई आत्महत्या के सटीक कारणों का पता लगाने के लिए पुलिस द्वारा तीनों शवों का पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए तीनों शवों के बिसरा रिपोर्ट के आधार पर विधिक निस्तारण किया जाएगा।जबकि कोई भी तहरीर पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के लिए थाने पर नहीं दी गई है। मामले में पुलिस की जांच जारी है।

Check Also

दो बाइकों के बीच हुई आमने सामने की भिड़ंत में मां-बेटे सहित 3 की मौत, दो की हालत नाजुक

अलीगढ़,ब्यूरो। थाना छर्रा इलाके के अतरौली छर्रा रोड स्थित रामपुर मोड़ के पास देर रात …