लखनऊ हादसा : ढही इमारत के मलबे में निकाले गए 12 लोग, DGP बोले- किसी की मौत नहीं हुई

The Blat News { Lucknow }  हजरतगंज इलाके में मंगलवार की शाम को उस वक्त हड़कंप मच गया, जब एक बहुमंजिला आवासीय इमारत अचानक भरभरा कर ढह गई और उसके मलबे में कई लोग दब गए। वहीं राहत की बात यह है कि इस इमारत से अब तक 14 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है और तीन-चार लोगों के अभी और दबे होने की संभावना है, जिसके लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इस भयंकर हादसे में अब तक एक भी मौत की सूचना नहीं है। यह हादसा इतना भयंकर था कि लखनऊ में बिल्डिंग गिरने की यह घटना जिसने भी देखी, वह सहम गया।

मलवे को हटाने में लगी जेसीबी
मलवे को हटाने में लगी जेसीबी

इमारत का पड़ा मालवा
इमारत का पड़ा मालवा

मलवे और घायलों को निकलने में लगी एनडीआरएफ
मलवे और घायलों को निकलने में लगी एनडीआरएफ



इस बिल्डिंग में मौजूद इलेक्ट्रीशियन इरफान ने बिल्डिंग गिरने के उस दर्दनाक मंजर की दास्तां सुनाई है। इरफान के मुताबिक, वह काफी दर्दनाक और भयावह मंजर था। इरफान के मुताबिक, जब बिल्डिंग गिरी तो वह अपने सहयोगी के साथ ग्राउंड फ्लोर पर ही काम कर रहे थे। वह भी इमारत गिरने के बाद मलबे में दब गए। इरफान तो सकुशल बाहर निकल गए, मगर उनकी स्कूटी अब भी मलबे में दबी हुई है। वहीं दूसरी मंजिल पर रहने वाली एक टीचर ने उन्हें बिजली के काम की मरम्मत के लिए बुलाया था। इरफान और उनके सहयोगी अंशु को सिर और कमर में चोट आई है। इरफान इकलौते इस घटना के चश्मदीद हैं, जो बोलने की स्थिति में हैं।


वहीं बिल्डिंग हादसे में से अब तक कुल 14 लोगों को बाहर निकला लिया गया है। प्रशासन की मानें तो 3 से 4 लोग अभी और दबे रह सकते हैं। बताया जा रहा है कि एक-दो शख्स अभी मलबे के नीचे से आवाज भी लगा रहे हैं। यही वजह है कि फिलहाल जेसीबी मशीन के जरिए रेस्क्यू ना करके कट्टर के जरिए एनडीआरएफ की टीम मलबे को काटकर हटा रही है। बीती रात डॉक्टरों की टीम ने मलबे के नीचे ऑक्सीजन पहुंचाया था, क्योंकि जो लोग नीचे मलबे में फंसे होंगे, उन्हें सांस लेने में दिक्कत ना हो।अब तक इस हादसे में एक भी मौत की पुष्टि नहीं हुई है।

वहीं इस इमारत में 9 परिवार रहा करते थे. इस इमारत के मलबे से अब तक 12 लोगों को निकाला जा चुका है। वहीं उत्तर प्रदेश के डीजीपी डीएस चौहान ने बताया कि इस घटना में अब तक किसी की मौत नहीं हुई है।


भूकंप के चलते बिल्डिंग गिरी

डीजीपी डीएस चौहान ने भूकंप के चलते बिल्डिंग गिरने की आशंका जताई है। डीजीपी चौहान ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘जो परिस्थिति है वो प्राकृतिक आपदा की तरफ इशारा कर रही है, क्योंकि आज यहां 5.8 तीव्रता का भूकंप आया था। उन्होंने बताया कि बचाव कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ भी समय-समय पर अपडेट ले रहे हैं।


सीएम योगी ने जारी किया था आदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे का तुरंत संज्ञान लेते हुए मौके पर एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमों को रवाना करने का निर्देश दिया।मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया, ‘सीएम योगी आदित्यनाथ ने जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर राहत और बचाव अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। कई अस्पतालों को भी अलर्ट रहने के निर्देश दिए।

Edited by : Rishabh Tiwari, {Kanpur Desk}

Check Also

लखनऊ:सभी विद्युत उपकेंद्रों पर सुबह 8ः00 बजे से रात 8ः00 बजे तक चल रहा अभियान

THE BLAT NEWS: प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री ए0के0 शर्मा ने कहा कि …