श्रीमद् भागवत महापुराण की पावन कथा के चतुर्थ दिवस में अंतरराष्ट्रीय कथा वाचक पंडित शिवाकांत जी महाराज ने गजेंद्र मोक्ष की कथा सुनाई

कानपुर, द ब्लाट। बिल्हौर स्थित रामलीला मैदान में चल रही सप्ताहिक श्रीमद् भागवत महापुराण की पावन कथा के चतुर्थ दिवस में अंतरराष्ट्रीय कथा वाचक पंडित शिवाकांत जी महाराज ने गजेंद्र मोक्ष की कथा सुनाते हुए कहा कि गजेंद्र ही जीव है और सरोवर ही भवसागर है ग्राह ही काल है गजेंद्र रूपी जीव भवसागर रुपी सरोवर में गोता लगाता रहता है और ग्राह रूपी काल का ग्रास बन जाता है ऐसे में यदि मनुष्य छल प्रपंच का त्याग करके परमात्मा की शरण में आता है तो भगवान उसे सभी दुखों से छुटकारा दिलाकर परमधाम प्रदान करते हैं।

 

 

कथा व्यास ने भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव की पावन कथा सुनाते हुए कहा कि पृथ्वी पर जब-जब अधर्म बढ़ता है और धर्म की हानि होती है तब_ तब भगवान किसी न किसी रूप में अवतार लेकर के अधर्मी एवं दुष्टों का संहार करते हैं एवं धर्म की पुनः स्थापना करते हैं भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव की बधाई में पूरा पंडाल आनंद में झूम कर नाचने लगा नंद घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की हाथी दियो घोड़ा दियो और दियो पालकी आज की कथा में व्यास पूजन कानपुर के एसपी आउटर रहे एवं वर्तमान डीसीपी ट्रैफिक कानपुर नगर आईपीएस तेज स्वरूप सिंह ने किया कथा का समय दोपहर 1:00 से सायं 5:00 बजे तक रहता है कथा सुनने के लिए दिनों दिन उमण रही है भीड़। ख़बर लिखें जानें तक।

Check Also

शराबी युवक ने ई-रिक्शा में लगाई आग, सड़क पर जमकर मचाया उत्पात

अलीगढ़, संवाददाता। थाना सासनी गेट क्षेत्र के राधारमण गौशाला के पास नशे में धुत एक …