ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग कल अस्पताल में भर्ती

द ब्लाट न्यूज़ पोंटिंग शनिवार को दोबारा कमेंट्री पैनल में लौट आए हैं। शनिवार को उन्होंने ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज मैच में कमेंट्री की जस्टिन लैंगर के साथ एक शो के दौरान इस घटना के बारे में बताते नजर आए।
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को सीने में दर्द के बाद कल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज लाइव मैच के दौरान कमेंट्री करते हुए अचानकर उन्हें सीन में दर्द की शिकायत हुई थी। इसके बाद उन्हें पर्थ के ही एक अस्पताल ले जाया गया। जहां उनका इलाज हुआ। अब वह शनिवार को दोबारा कमेंट्री पैनल में लौट आए हैं। शनिवार को उन्होंने ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज मैच में कमेंट्री की जस्टिन लैंगर के साथ चैनल सेवेन के एक शो के दौरान इस घटना के बारे में बताते नजर आए।

 

पोंटिंग ने शनिवार की सुबह चैनल सेवन पर खुलकर अपनी सेहत के बारे में बात की। उन्होंने करीबी दोस्त और टीम के पूर्व साथी जस्टिन लैंगर और सेवेन्स क्रिकेट के प्रमुख क्रिस जोन्स का आभार जताया और कहा कि इन्हीं दोनों के दबाव के बाद वह अस्पताल गए। इन दोनों ने ही तत्काल इलाज के लिए कहा था।
पोंटिंग ने चैनल सेवन से कहा- मैंने शायद कल बहुत सारे लोगों को डरा दिया और मेरे लिए भी यह एक डरावना पल था। मैं आधे रास्ते में कॉम्स बॉक्स में बैठा था और मेरे सीने में तेज दर्द था। मैंने इससे छुटकारा पाने की कोशिश की। कमेंट्री के दौरान मैं ऑन एयर था और कहीं दूर नहीं जाना चाहता था।

पोंटिंग ने कहा- कमेंट्री में सीने में दर्द के बाद मैं उठकर थोड़ा चला, लेकिन मुझे चक्कर आया और बेंच पर बैठ गया। मैंने कमेंट्री बॉक्स से बाहर निकलते वक्त लैंगर को बताया कि मेरे सीने में ये दर्द था और क्रिस जोन्स ने मुझे सुना और तुरंत प्रतिक्रिया दी। उन्होंने मुझे वहां से बाहर निकाला और दोनों ने अस्पताल जाने कहा। 10 या 15 मिनट बाद मैं अस्पताल में इलाज करा रहा था।
पोंटिंग ने बताया- मैं आज सुबह बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं। मैं आज सुबह खुद को जोश से भरपूर महसूस कर रहा हूं। मैं इस घटना का जिक्र इस लिए भी करना चाहता हूं कि मैंने देखा लैंगर या जोन्स ने किस प्रकार मेरी मदद की। कहने का तात्पर्य यह है कि आपके पास एक दोस्त है जो आपको सही सलाह दे सकता है। हमारी उम्र के लोगों के साथ दिक्कत यह है कि हम बहुत कुछ साझा करने या अपने स्वास्थ्य के बारे में बात करने में थोड़ा हिचकिचाते हैं। मुझे लगता है कि कल की घटना से मैंने बहुत कुछ सीखा है। विशेष रूप से पिछले 12-18 महीनों में हमारे आसपास के लोगों के साथ कुछ घटनाएं हुई हैं जिसने हमें परेशान किया है। लैंगर ने मेरी देखभाल की और मुझे मुझे अस्पताल भेजा और आज सुबह मैं वापस काम पर हूं।

Check Also

भुवनेश्वर:ग्राहम रीड ने कोच के पद से इस्तीफा दिया

THE BLAT NEWS:)       भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कोच ग्राहम रीड ने विश्व …