ग्रामीणों का सफर होगा सुहाना, जिला मुख्यालय तक दौडेंगी रोडवेज बसें

अलीगढ़ । कोरोना संक्रमण के बाद से लगातार घाटे से जूझ रहे रोडवेज ने इसकी भरपाई के प्रयास शुरू कर दिए हैं। इसके तहत जिले के ऐसे महत्वपूर्ण रूटों को चयनित किया है जहां बसें संचालित करने के बाद विभाग को न केवल राजस्व की प्राप्ति होगी, बल्कि ग्रामीणों का सफर भी सुहाना होगा।

ब्लाक मुख्यालय व प्रमुख गांवों से चलेंगीं बसें
परिवहन निगम के अफसरों ने इस योजना को अमलीजामा पहनाने का खाका तैयार कर लिया है। ग्रामीणों को आवागमन में होने वाली परेशानियों को देखते हुए अधिक आबादी वाले प्रमुख गांवों को सीधे ही कस्बे, ब्लाक, तहसील व जिला मुख्यालय से जोड़ने का निर्णय लिया है। इसके लिए रूट भी निर्धारित कर लिए गए हैं।

13 रूटों पर होगा बसों का संचालन
अलीगढ़ में 13 नए ग्रामीण रूटों पर अनुबंधित बसें चलाई जाएंगी। आरएम मोहम्मद परवेज ने बताया कि छर्रा, गंगीरी, दादों, अतरौली, खैर, लोधा, मडराक, बरौली, जवां, गोंडा, अकराबाद, कौड़ियागंज, विजयगढ़ समेत 13 रूट चिन्हित किए गए हैं। जिससे करीब 100 से भी अधिक गांव रोडवेज बस सेवा से सीधे ही जुड़ जाएंगे। इन गांवों को जोड़ने की खातिर बसों को अनुबंध पर लगाया जाएगा। इन बसों को पीपीपी( प्राइवेट,पब्लिक,पार्टनरशिप) माडल के तहत रोडवेज से अटैच किया जाएगा। ग्रामीण लंबे समय से बसें चलवाने की मांग करते चले आ रहे थे। ये बसें रात में रुककर सुबह चलेंगी। रोडवेज का इन बसों को चलाने के पीछे मकसद है कि ग्रामीण क्षेत्र के दूधिए, सब्जी उगाने वाले किसान अपने उत्पादनों को मुख्य बाजार या फिर शहर में ले जाकर बेच सकेंगे, इससे उनकी आमदनी बढ़ेगी।

Check Also

छानबे विधायक राहुल प्रकाश कोल के घर पहुंच अर्पित किया श्रद्धा सुमन

THE BLAT NEWS: मीरजापुर। जिले अंतिम छोर पर स्थित विकास खंड राजगढ़ के धनसीरिया में …