दवा, पीपीई किट पहुंचाकर डाक विभाग ने कमाए 50 करोड़

प्रयागराज । कोरोना की दूसरी लहर में लगा कर्फ्यू डाक विभाग के लिए आपदा में अवसर साबित हुआ। विभाग ने लोगों को सुविधा देकर कमाई की। विभाग ने चार माह में दवा, पीपीई किट, वेंटिलेटर आदि उपकरण और पार्सल पहुंचाकर पूरे 50 करोड़ कमाए। इस कमाई से विभाग ने कर्फ्यू के कारण रजिस्ट्री, स्पीड पोस्ट आदि न होने से हुए घाटे की भरपाई की।

आपदा में मिले इस अवसर से विभाग की आय घटने का असर नहीं पड़ा। वहीं लोगों को घर बैठे सुविधा भी मिल गई। डाककर्मियों ने कोरोना योद्धा की तरह संक्रमण से बचते हुए खुद को जोखिम में डालकर लोगों तक सुविधा पहुंचाई। वक्त पर आवश्यक दवाएं, पीपीई किट और उपकरण आदि पहुंचने के कारण कोरोना से लड़ाई आसान हुई।

प्रवर डाक अधीक्षक संजय डी अखाड़े ने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण ज्यादातर लोग स्पीड पोस्ट, पार्सल और रजिस्ट्री करने डाकघर नहीं आ रहे थे, लेकिन डाक विभाग की ओर से जीवन रक्षक दवाएं सहित अन्य उपकरण पहुंचाने की व्यवस्था की गई। इससे विभाग को करोड़ों रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई। इसके अलावा इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से घर बैठे लोगों को पैसा निकालने की सुविधा देकर बतौर कमीशन 25 लाख रुपये का मुनाफा भी विभाग ने कमाया है।

Check Also

पोस्टमार्टम के बाद शव गांव पहुंचते ही मचा कोहराम

बरखेड़ा। घरेलू कलह के चलते एक युवक ने जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दी। बरेली …