अन्य प्रारूपों के साथ अस्तित्व में रह सकते हैं टी10 और हंड्रेड: रॉय

अबु धाबी । इंग्लैंड के स्टार सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय का मानना है कि क्रिकेट के नए प्रारूप द हंड्रेड और टी10 खेल में अन्य प्रारूपों के साथ अस्तित्व में रह सकते हैं जिनमें टी20, एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और टेस्ट क्रिकेट शामिल हैं।

टी10 प्रारूप को 2028 ओलंपिक में जगह दिलाने के प्रयास चल रहे हैं जबकि इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने 100 गेंद का नया प्रारूप शुरू किया है।

अबु धाबी टी10 लीग में दिल्ली बुल्स की ओर से खेलने वाले रॉय ने वर्चुअल बातचीत के दौरान कहा, ‘‘ये एक साथ अस्तित्व में हैं, क्या ऐसा नहीं है?’’

उन्होंने कहा, ‘‘टी10 में काफी प्रतिभावान खिलाड़ी खेल रहे हैं, द हंड्रेड में काफी प्रतिभावान खिलाड़ी खेल रहे हैं और वह भी कोविड के दौरान।’’

रॉय तीन साल के बाद अबुधाबी टी10 में वापसी कर रहे हैं और उन्होंने कहा कि टी10 प्रारूप से उनके बड़े शॉट खेलने के कौशल में काफी फायदा होगा।

रॉय ने कहा, ‘‘आपके पास लाल गेंद का क्रिकेट है, एकदिवसीय क्रिकेट है और टी20 क्रिकेट है। ये आपके तीन खेल हैं जिन पर आपको काम करने की जरूरत है। लेकिन अब आप इसमें हंड्रेड और टी10 जोड़ दो, यह काफी मजेदार है, काफी मजेदार, विशेषकर मेरे जैसे खिलाड़ियों के लिए जो बाकी सभी प्रारूपों में खेले हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अब इस प्रारूप में खेलकर नया कौशल सीखना शानदार है, यह तरोताजा करने वाला है, यह आपको युवा रखता है जो अच्छा है। मुझे लगता है कि ये सभी एक साथ अस्तित्व में रह सकते हैं।’’

यह पूछने पर कि क्या भविष्य में टी10 विश्व कप आयोजन हो सकता है तो उन्होंने कहा, ‘‘यह मजेदार होगा। यह शानदार विचार है लेकिन टेस्ट, एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और टी20 अंतरराष्ट्रीय के बीच इसे अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम में जगह देना काफी मुश्किल होगा।’’

अबु धाबी टी10 लीग का पांचवां सत्र 19 नवंबर से चार दिसंबर तक खेला जाएगा।

 

Check Also

जर्मनी को हराकर रूस डेविस कप फाइनल में

मैड्रिड । आंद्रे रूबलेव और दानिल मेदवेदेव की एकल मैचों में जीत से रूस ने …