5 साल की उपलब्धि गिनाना छोड़ चुनावी सभाओं में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की बात कर रही है भाजपा : विकास उपाध्याय

 

असम (डिब्रूगढ़)। कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय सचिव, असम चुनावों में स्टार प्रचारक विकास उपाध्याय जो छत्तीसगढ़ विधानसभा में सदस्य भी हैं, राहुल गाँधी के अपने प्रभार वाले क्षेत्र अपर असम में आयोजित विभिन्न आयोजनों को सफल बनाने की जिम्मेदारी व व्यस्तता के बीच एक इंटरव्यू में कई अहम बातें कहीं हैं। उन्होंने कहा, देश में एक मात्र नेता राहुल गाँधी ही हैं जो पढ़े लिखे काफी संख्या में युवाओं के बीच खुले मंच पर हर विषय पर खुल कर चर्चा और तर्क वितर्क करने का साहस रखते हैं। जबकि भाजपा या अन्य किसी नेता में ऐसा साहस नहीं जो आज के इन तेज बुध्दि युवा पीढी का जवाब भी दे सकें। उन्होंने दावा किया कि इस बार असम में कांग्रेस को पिछले चुनाव के मुकाबले 10 फीसदी ज्यादा वोट मिलेगा और यह बढ़ कर 41 फीसदी तक जा पहुँचेगा। इस तरह कांग्रेस महागठबंधन 80 से भी ज्यादा सीटें जीत कर सत्ता में वापसी करेगी।

विकास उपाध्याय पूरे आत्मविश्वास के साथ कहते हैं, इस चुनाव में असम के लोग भाजपा के खिलाफ वोट करेंगे। इसकी वजह स्पष्ट करते हुए कहते हैं, भाजपा पूरे कैम्पनिंग में कहीं भी अपनी सरकार के बीते पांच साल के उपलब्धियों को गिनवाने की वजाए सभाओं में हिंदुत्व, मुगलों का शासन आ जाएगा जैसी बातें कर बीजेपी अजमल के नाम से हिंदुओं को डराने की कोशिश कर रही है और इस बात को वे आज नहीं बल्कि पहले भी कह चुके हैं, ताकि हिंदू वोट का फायदा भाजपा को मिल जाये। पर ऐसा नहीं होने वाला। असम के लोग प्रदेश का सिर्फ विकास चाहते हैं। भाजपा सांप्रदायिक ध्रुवीकरण कर पहले चरण में जिन 40 सीटों पर मतदान होना है के हिंदू वोट उन्हें मिल जायेंगे की आस लगाए बैठी है वह गलतफहमी में है। असमिया हिंदू बहुल इस क्षेत्र में कांग्रेस द्वारा CAA को लागू न करने की गारंटी का असर साफ दिखाई दे रहा है और कांग्रेस को इनका जबरदस्त समर्थन है।

विकास उपाध्याय जीत के जादुई आंकङों को ले कर बताते हैं,2016 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को करीब 31 फीसदी वोट मिले थे, जो बीजेपी को मिले वोट प्रतिशत से ज्यादा था।बीजेपी को 29.5 फीसदी वोट मिले जबकि पिछले चुनाव में कांग्रेस शासन के खिलाफ एक मजबूत एंटी इनकंबेंसी फैक्टर था। जिससे इनकार नहीं किया जा सकता। बावजूद अधिकांश सीटों पर कांग्रेस बहुत कम अंतर से हारी थी।इसका बड़ा कारण था कांग्रेस-एआईयूडीएफ ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था इस वजह से खासकर मुस्लिम वोट बंट गए थे जिसका बीजेपी को फायदा मिला। पर इस बार हम साथ हैं। नतीजन हमें हिन्दू मुस्लिम दोनों के वोट मिलेंगे। अपर असम से ही कांग्रेस को इस गठबंधन के चलते 12 सीटों पर अतिरिक्त सीधा फायदा मिलेगा।विकास उपाध्याय का मानना है अपर असम से ही 40 में से 25 से 30 सीटों पर महागठबंधन जीत हासिल करेगी।

विकास उपाध्याय ने जोर देकर इस बात को कहा, अब पूरे देश में मोदी फेक्टर का अंत हो चुका है। लोग मोदी की करनी व कथनी की तुलना करना शुरू कर दिए हैं। देश की सुरक्षा से लेकर विकास का बखान करने वाली मोदी सरकार को पहचान लिया है। लोग बेरोजगारी व महंगाई से त्रस्त हो चुके हैं। देश भाजपा के हाथों सुरक्षित नहीं हो सकता इस बात को लोग जान चुके हैं। भाजपा के नेता मोदी मीडिया के बीच ही अपनी बात रख रहे हैं न कि आप लोगों के बीच इस बात को भी लोग महसूस करने लगे हैं। जिस दिन राष्ट्रीय चैनल राहुल और प्रियंका की बातों को उनके विचारों को 10 मिनट दिखाना शुरू कर देंगे उस दिन मोदी और अमित शाह को लोग सुनना बन्द कर देंगे। तय मान कर चलिए भाजपा का पूरे हिन्दुस्तान में अब अंत होने वाला है।

Check Also

यरुशलम गजब: बच्चे का टिकट लाना भूले तो एयरपोर्ट पर ही छोड़ गए मां-बाप

THE BLAT NEWS:          यरूशलम;;;;;;;;;  मां-बाप के लिए बच्चे जिगर का टुकड़ा …