गोरखपुर पंचायत: 857 आरक्षित, जानिए महिला, ओबीसी और एससी को मिलींं कितनी सीटें

ग्राम पंचायत सदस्य, प्रधान, बीडीसी सदस्य, बीडीसी और जिला पंचायत सदस्य पद के लिए आरक्षण की सूची प्रकाशित कर दी। इस सूची को जिला मुख्यालय के साथ ही ब्लाकों पर भी चस्पा किया गया है। यूं तो शासन की तरफ से सूची के प्रकाशन के लिए 02 और 03 मार्च की तारीख तय की गई थी लेकिन जिला प्रशासन ने मंगलवार को ही सूची का प्रकाशन कर दिया है। जारी सूची पर 4 से 8 मार्च तक आपत्तियां जिला मुख्यालय समेत ब्लाक मुख्यालय तक पर ली जाएंगी। 9 से 12 मार्च तक आपत्तियों का निस्तारण कर 14 मार्च को आरक्षण की अंतिम सूची प्रकाशित होगी। 15 मार्च को इसे पंचायतीराज निदेशालय भेजा जाएगा।

शासन ने कुल 1294 ग्राम पंचायतों में से प्रधान पद के एससी, एसटी एवं ओबीसी के लिए 649 गांवों को आरक्षित किया है। इसके अलावा महिला के लिए 208 ग्राम पंचायतें आरक्षित हैं। जिले में 437 गांव अनारक्षित हैं। अनारक्षित पंचायतों में किसी भी जाति वर्ग का उम्मीदवार प्रधान पद के लिए चुनाव लड़ सकेंगे। अनुसूचित जनजाति के लिए इस बार 6 गांव आरक्षित हैं। इनमें से 03 महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। ये गांव जंगल कौड़िया, ब्रह्मपुर और कौड़ीराम ब्लाकों के हैं। ब्लाक प्रमुख के 20 पदों में से 7 पद अनारक्षित हैं। ब्लाकवार प्रधान पद के लिए आरक्षित गांवों की संख्या के मुताबिक जिले के उरुवां ब्लाक के सर्वाधिक गांव आरक्षित हैं। उरूवा ब्लाक में कुल 95 पंचायतों में से एससी महिला के लिए 8, एससी के लिए 14, ओबीसी महिला के लिए 9, ओबीसी के लिए 16, सामान्य महिला के लिए 15 गांव आरक्षित हैं। 33 गांव अनारक्षित हैं।

ब्लाक प्रमुख के लिए एसटी नहीं होगा कोई उम्मीदवार
जारी आरक्षण सूची के अनुसार गोरखपुर में ब्लाक प्रमुख के 20 पद के लिए एसटी का कोई उम्मीदवार नहीं होगा। अनुसचित जाति महिला के लिए 02 और पुरूष के लिए 02 पद आरक्षित है। इसी तरह अन्य पिछड़ा वर्ग महिला के लिए 02 और पुरूष के लिए 04 छह पद और महिला के लिए 03 जबकि सात पद अनारक्षित हैं।

‘‘आरक्षण का निर्धारण कर अनंतिम सूची जिला मुख्यालय और ब्लाकों पर सार्वजनिक की जा रही है। आपत्तियों के निस्तारण के बाद 14 को अंतिम सूची जारी की जाएगी। 15 मार्च को इसे शासन को भेजा जाएगा।’’
हिमांशु शेखर ठाकुर, डीपीआरओ

ब्लाकवार विभिन्न वर्गों के लिए आरक्षित ग्राम पंचायतों की संख्या
ब्लाक -कुल पंचायत – एससी महिला – एससी- ओबीसी महिला- ओबीसी- महिला- अनारक्षित
पिपरौली -63 – 04 – 07 – 06 – 12 -11 – 23
बेलघाट -89 – 07 – 13 – 08 – 16 -15 – 30
पिपराइच -63 – 05 – 10 – 06 – 12 – 10 – 20
चरगांवा -35 – 03 -04 – 04 – 06 – 05 – 13
भरोहिया -40 – 03 – 04 – 04 – 07 – 07 – 15
पाली -67 – 06 -10 – 07 – 12 – 10 – 22
गोला -72 -06 -11 – 07 – 13 – 11 – 24
गगहा -76 – 06 -12 – 07 – 14 – 13 – 24
कौड़ीराम -64 – 05 -10 -06 – 11 – 10 -20
खोराबार -41 – 04 – 06 -04 – 08 -06 -13
भटहट -64 – 04 -08 – 06 – 12 – 12 – 22
जं. कौड़िया -50 – 04 – 06 – 05 – 09 -07 – 17
कैंपियरगंज -72 – 04 – 08 – 07 – 13 -13 – 27
ब्रह्मपुर -63 – 05 -10 -06 – 12 -09 -19
सरदारनगर -53 – 05 – 08 – 05 – 10 – 08 – 17
सहजनवां -64 – 05 -10 – 06 – 11 – 11 – 21
उरुवां -95 – 08 -14 -09 – 16 -15 – 33
बड़हलगंज -69 – 06 -10 -07 – 12 -10 – 24
खजनी – 85 – 07 -13 – 08 – 14 -14 – 29
बांसगांव -69 – 06 -10 -06 – 12 – 11 -24
कुल -1294 – 103 – 184 -124 – 232 -208 – 437
( जंगल कौड़िया, ब्रह्मपुर एवं कौड़ीराम ब्लाकों में एक-एक गांव एसटी महिला के लिए जबकि एक-एक गांव एसटी के लिए आरक्षित हैं।)

खास-खास
8 मार्च तक दर्ज करा सकेंगे आपत्ति, 14 मार्च को जारी होगी आरक्षण की फाइनल सूची
649 पंचायतों में प्रधान पद  एससी, एसटी और ओबीसी के लिए जिले में आरक्षित
208 गांव महिला के लिए आरक्षित, 437 गांव में कोई भी लड़ सकेगा चुनाव