बेटी बचाओं,बेटी पढाओ का उद्देश्य लिंगानुपात में सुधार लाना है-महिला कल्याणअधिकारी

 

कुशीनगर। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में मिशन शक्ति योजनान्तर्गत मदरसा जामिया उस्मानिया गल्र्स हाईस्कूल दुदही कुशीनगर में महिला कल्याण विभाग द्वारा पी0सी0पी0एन0डी0टी0 के तहत जागरूक किया गया! जिसमें महिला कल्याण अधिकारी प्रतिभा सिंह ने बताया कि इस योजना का उद्देश्य समाज में घटते बाल लिंगानुपात पर रोक लगाने का प्रयास करना ! ताकि तकनीकी का दुरूपयोग कर भ्रूण का लिंग परीक्षण कर बेटियों को जन्म से रोकने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करना है तथा समाज में बेटियों को बचाने के लिये जागरूक करना है उन्होंने मुखबीरी योजना में बताया कि इसे सफल करने के लिये मुखबीर को 60000, ग्राहक को एक लाख, सहायक को 40000 की धनराशि पुरस्कार स्वरूप दी जायेगी एवं मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के बारे में बताया कि यह योजना सरकार द्वारा बेटियों के जन्म से लेकर उनके स्नातक तक की पढाई तक 150000 रूपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी ! इस योजना का लाभ दो बच्चों तक जन्म देने वाले परिवार को प्राप्त होगा। उन्होंने वन स्टाप सेन्टर के बारे में बताया कि एक छत के नीचे यौन उत्पीडन, यौन शोषण, घरेलू ंिहंसा, तस्करी सम्बन्धित अपराधों, एसिड अटैक, छेडछाड के प्रयास के कारण किसी प्रकार की हिंसा का सामना करने वाले पीडिता महिलाओं को समस्त प्रकार की सुविधा उपलब्ध करायी जाती है। जिसमें मदरसा के प्रधानाचार्या तसलीमा खातून, जाहिदा खातून, नाजनीन खातून एवं समस्त अध्यापकगण उपस्थित रहें।

Check Also

तीसरी लहर से पहले तीन सीएचसी आक्सीजन प्लांट से होंगे लैस

मुरादाबाद । संक्रमण की दूसरी लहर में आक्सीजन की कमी से कई परिवारों ने अपनों …