• January 23, 2021

दिल्ली में वैक्सीनेशन की क्या है तैयारी, जानिए किन 51 लाख लोगों को पहले लगेगा टीका, कितने वैक्सीन की होगी जरूरत

 दिल्ली में वैक्सीनेशन की क्या है तैयारी, जानिए किन 51 लाख लोगों को पहले लगेगा टीका, कितने वैक्सीन की होगी जरूरत

अरविंद केजरीवाल के मुताबिक दिल्ली में 74 लाख डोज स्टोर करने की क्षमता है. अगले 5 दिन में 1.15 करोड़ से ज्यादा की वैक्सीन स्टोर करने की क्षमता होगी. वैक्सीन पाने के लिए लोगों को SMS से जानकारी दी जाएगी.
कोरोना टीकाकरण को लेकर दिल्ली सरकार ने अपनी तैयारियां आगे बढ़ा दी हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मुताबिक दिल्ली सरकार ने वैक्सीन का इंतजाम कर लिया है. दिल्ली में 3 लाख हेल्थ केयर वर्कर, 6 लाख फ्रंट लाइन वर्कर और ऐसे लोग जिनकी उम्र 50 साल से ज्यादा है, उन्हें पहले वैक्सीन दी जाएगी.

कुल 51 लाख लोगों को पहले फेज में वैक्सीन लगाई जाएगी. अरविंद केजरीवाल के मुताबिक दिल्ली में 74 लाख डोज स्टोर करने की क्षमता है. अगले 5 दिन में 1.15 करोड़ से ज्यादा की वैक्सीन स्टोर करने की क्षमता होगी. वैक्सीन पाने के लिए लोगों को SMS से जानकारी दी जाएगी.

कब शुरू होगा टीका लगाने का काम?
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केजरीवाल ने कहा कि सरकार केंद्र से टीका मिलते ही टीकाकरण अभियान शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है. उन्होंने कहा कि इसे पहले पाने वाले प्राथमिकता वाले तीन श्रेणियों के लोगों का पंजीकरण जारी है.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘दिल्ली में प्राथमिकता श्रेणी में 51 लाख लोग हैं, जिनमें तीन लाख स्वास्थ्य कर्मी, अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहे छह लाख कर्मी, 50 साल से अधिक आयु के लोग एवं किसी अन्य बीमारी से ग्रसित 50 साल से कम आयु के 42 लाख लोग हैं.’

एक व्यक्ति को कितनी बार मिलेगी खुराक?
उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को दो खुराक दी जाएंगी और दिल्ली में टीकाकरण के पहले चरण में कुल 1.02 करोड़ खुराक की आवश्यकता होगी. केजरीवाल ने कहा कि इस समय कोविड-19 टीके की 74 लाख खुराकों की भंडारण क्षमता है और इसे एक सप्ताह में बढ़ाकर 1.15 करोड़ किया जाएगा.
पहले किन्हें लगेगा टीका?
उन्होंने कहा कि कोविड-19 का टीका लगाने के लिए प्राथमिकता श्रेणी के हर व्यक्ति का पंजीकरण किया जा रहा है. जब टीका लगवाने के लिए उनकी बारी आएगी, तो उन्हें एसएमएस और अन्य माध्यमों से इस बारे में सूचित किया जाएगा. केजरीवाल ने कहा, ‘टीका सिर्फ उन्हीं लोगों को लगाया जाएगा जिनका पंजीकरण हो गया है.’

टीके से नुकसान होने पर क्या होगा?
सरकार ने टीका लगाए जाने के बाद इसका कोई दुष्प्रभाव होने की स्थिति से निपटने के लिए उपयुक्त इंतजाम किए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि टीकाकरण के लिए आवश्यक कर्मियों, अधिकारियों और स्वास्थ्य कर्मियों को चिन्हित कर लिया गया है और उन्हें टीकाकरण मुहिम के लिए प्रशिक्षण दिया गया है. उन्होंने कहा कि जिन स्थानों पर टीका लगाया जाएगा, उन्हें तैयार कर दिया गया है.

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पिछले कुछ दिन में कोविड-19 संबंधी हालात में सुधार आया है, लेकिन सभी की नजरें इस बात पर टिकी हैं, कि टीका कब उपलब्ध होगा और कब लोग इस वायरस से छुटकारा पाएंगे. उन्होंने कहा, ‘हर किसी की नजर अब टीके पर है. दिल्ली सरकार ने सभी इंतजाम कर लिए हैं और हम केंद्र सरकार से टीका प्राप्त करने, उसका भंडारण करने तथा प्राथमिकता श्रेणी वाले लोगों का टीकाकरण करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.’

नए साल के जश्न में खलल
कोरोना संक्रमण बढ़ने के खतरे को देखते हुए कई राज्यों ने क्रिसमस से लेकर नए साल तक नाइट कर्फ्यू का एलान किया है, लेकिन धार्मिक संगठनों और आम लोगों की नाराजगी के चलते फैसले वापस भी लेने पड़ रहे हैं. कर्नाटक में भी नए साल तक नाइट कर्फ्यू का आदेश दिया गया था लेकिन आज इसे वापस ले लिया गया.

वहीं, पंजाब की कैप्टन सरकार ने क्रिसमस के लिए नाइट कर्फ्यू में ढील दे दी. इसके बाद फतेहगढ़ साहिब में शहीदी सभा के लिए आज से 27 दिसंबर तक नाइट कर्फ्यू में ढील का ऐलान किया गया है.

कोरोना की वजह से पहाड़ों पर होने वाला नए साल का जश्न इस बार फीका रहेगा. शानदार बर्फबारी के बावजूद महामारी के खौफ से पहाड़ों पर पहुंचने वाले सैलानियों की तादाद बेहद कम हो गई है. शिमला में सिर्फ 50 फीसदी होटलों में बुकिंग हुई है.


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4755