मध्यप्रदेश में महसूस होने लगी गुलाबी ठंड

 

भोपाल । देश से दक्षिण पश्चिम मानसून की विदाई के बाद अब मध्यप्रदेश में सुबह और रात के पहर में गुलाबी सर्दी का अहसास होने लगी है।

मौसम वैज्ञानिक उदय सरवटे ने बताया कि देश दक्षिण पश्चिम मानसून की विदाई कल हो चुकी है।

अगले तीन दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों तापमान में दो-तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट होने की संभावना है।

उन्होंने बताया कि पिछले साल की तुलना में इस साल ठंड का प्रभाव ज्यादा होने की संभावना है।

मध्यप्रदेश से 26 अक्टूबर को दक्षिण पश्चिम मानसून की विदाई के बाद अब प्रदेश के तापमानों में मामूली रुप से गिरावट आना शुरु हो गया है।

ऐसे में राज्य के अनेक स्थानों पर सुबह और रात के समय गुलाबी ठंड पड़ने लगी है।

राजधानी भोपाल में न्यूनतम तापमान 15.9 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ।

यह सामान्य से 1 डिग्री सेल्सियस कम रहा।

इससे सुबह में गुलाबी ठंड महसूस की गई।

सुबह में टलहने के लिए निकले लोगों ने हल्की ठंड महसूस की।

श्री सरवटे ने बताया कि फिलहाल प्रदेश में हवाओं का रुख उत्तरी है।

इससे चलते रात के तापमान में गिरावट शुरु हो गयी है।

प्रदेश के जबलपुर, छिंदवाड़ा, सीधी, मंडला, नरसिंहपुर, सतना, सिवनी, सीधी, टीकमगढ़, उमरिया, दतिया, बैतूल, गुना, ग्वालियर, होशंगाबाद, इंदौर, रायसेन सहित अन्य स्थानों पर गुलाबी ठंड रही।

बीते 24 घंटों के दौरान राज्य के सभी संभागों में अधिकतम तापमान में विशेष परिवर्तन नही हुआ।

शहडोल एवं सागर संभागों के जिलों में सामान्य से अधिक दर्ज किया गया।

प्रदेश में सर्वाधिक अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस रीवा, खजुराहो, नौगांव एवं दमोह में दर्ज की गई।

वहीं प्रदेश के दतिया में न्यूनतम तापमान सबसे कम 14 डिग्री दर्ज हुआ है।

प्रदेश की राजधानी भोपाल में अगले चौबीस घंटों के दौरान मौसम का रुख शुष्क रहने के साथ ही हवाओं की औसत गति 10 किलोमीटर प्रति घंटा रहने का अनुमान है।

सुबह के पहर में हल्की ठंड का प्रभाव रहेगा।

blat