शादी विवाह प्रोत्साहन योजना में निष्पक्ष जांच के उपरान्त ही लाभार्थियों को योजना का लाभ देंः-अविनाश कुमार

 

हरदोई(लक्ष्मीकान्त पाठक) कलेक्ट्रेट सभागार में आहूत  बैठक में जिलाधिकारी अविनाश कुमार ने पिछड़ा वर्ग कल्याण, दिव्यांगजन सशक्तीकरण, समाज कल्याण, राजकीय पालीटेक्निक तथा कौशल विकास की संचालित योगनाओं में कराये जा रहे कार्यो की गहन समीक्षा की।
बैठक में जिलाधिकारी ने पिछड़ा वर्ग पूर्वदशम एवं दशमोत्तर छात्रवृत्ति की समीक्षा में जनपद के कम छात्रों की संख्या पर जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि उक्त योजना में जनपद के अधिक से अधिक छात्र/छात्राओं को लाभान्वित करायें। पिछड़ी जाति विवाह अनुदान के संबंध में जिलाधिकारी ने निर्देश कि योजना का लाभ सही पात्र लाभार्थी की ब्लाक एवं तहसील स्तर से जांच कराने के बाद ही उपलब्ध करायें। ओ लेवल/सीसीसी कम्प्युटर प्रशिक्षण के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि चिन्हित पिछड़े वर्ग के शिक्षित बेरोजगार युवक /युवतियों को उक्त योजना के अन्र्तगत प्रशिक्षण दिलाते हुए रोजगार दिलायें तथा पिछड़ा वर्ग छात्रावास के संबंध में उन्होने कहा कि छात्रावास में अध्ययनरत छात्र/छात्राओं को छात्रावास की सभी सुविधायें उपलब्ध करायें।

दिव्यांग भरण पोषण योजना के संबंध में जिलाधिकारी ने जिला दिव्यांग सशक्तीकरण अधिकारी को निर्देश दिये कि आॅनलाइन पात्र प्राप्त सभी दिव्यांगजनों के आवेदन जांच कराने के उपरान्त स्वीकृत के लिए विभाग को प्रेषित करें तथा दुकान निर्माण/संचालन योजना के में शासन के निर्देशानुसार उन्हीं लोगों को योजना का लाभ दिया जाये जो योजना के पात्र है तथा शादी विवाह प्रोत्साहन योजना में भी निष्पक्ष जांच के उपरान्त ही लाभार्थी को योजना का लाभ दें। बैठक में जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि कृत्रिम अंग/सहायक उपकरण वितरण योजना के अन्तर्गत 40 प्रतिशत दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग/सहायक उपकरण के रूप ट्राईसाइकिल, व्हीचेयर, बैशाखी, हैयरिंग एड, ब्लाइंड स्टिक तथा कृत्रिम हाथ-पैर का वितरण किया गया।

समाज कल्याण विभाग की मा0 मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना के संबंध में जिलाधिकारी ने जिला समाज कल्याण अधिकारी हर्ष मावर को निर्देश दिये कि मुख्यालय द्वारा विवाह आयोजन तिथि घोषित होने से पहले लाभार्थियों का चयन करते हुए अग्रिम कार्यवाही हेतु तैयारी पूरी रखें और वृद्वावस्था पेंशन में जिन पुराने लाभार्थियों की पेंशन किसी कारण रूक गयी है उनकी जांच कराते हुए पुनः पेंशन उपलब्ध करायें और नये पेंशनरों के आवेदनों पर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए स्वीकृत के लिए विभाग को भेजें और इसके साथ ही अनुसूचित जाति विवाह अनुदान, सामान्य जाति विवाह अनुदान, पूर्वदशम व दशमोत्तर छात्रवृत्ति का लाभ पात्र व्यक्तियों को दिलाने के अलावा अत्याचार उत्पीड़न योजना से संबंधित लोगों को समय से जांच के उपरान्त सहायता राशि उपलब्ध करायें।

बैठक में प्रधानाचार्य आईटीआई ने जिलाधिकारी को बताया कि जनपद में राजकीय पालीटेक्निक हरदोई वर्ष 2009 से संचालित हो रहा है तथा सण्डीला पालीटेक्निक का निर्माण कार्य 90 प्रतिशत पूर्ण हो गया है जबकि गोपामऊ का निर्माण 10 प्रतिशत हुआ है। इस पर जिलाधिकारी ने प्रधानाचार्य को निर्देश दिये कि निर्माण एजेंसियों को आदेशित करें कि पालीटेक्निक निर्माण कार्य तय समय पर मानक एवं गुणवत्ता के अनुरूप करायें। कौशल विकास योजना के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिये कि मा0 प्रधानमंत्री तथा मा0 मुख्यमंत्री कौशल विकास के अन्तर्गत जनपद के अधिक से अधिक युवक/युवतियों को विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षण दिलाते हुए रोजगार उपलब्ध करायें।
समाज कल्याण विकास की पं0 दीनदयाल स्वतः रोजगार योजना, स्वतः रोजगार योजना, दुकान निर्माण तथा लाण्ड्री एवं ड्राई क्लीनिंक ऋण योजना की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने जिला समाज कल्याण अधिकारी विकास, मीता गुप्ता को निर्देश दिये कि योजना में आॅनलाइन आवेदन करने वाले पात्र व्यक्तियों को लाभ दिलायें। बैठक में जिला संख्या अधिकारी रामप्रकाश वर्मा, अपर जिला सूचना अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

blat