आगामी त्यौहारों के संबंध में शांति समिति की बैठक आयोजित

 

कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री सुभाष कुमार द्विवेदी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आगामी त्यौहारों के संबंध में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में आगामी समय में दशहरा, दुर्गा प्रतिमा विसर्जन 25 एवं 26 अक्टूबर, ईद-मिलाद -उन-नवी 30 अक्टूबर, महर्षि बाल्मीकी जयंती 31 अक्टूबर 2020 को कोरोना वायरस के बचाव एवं शासन की गाईड लाईन के तहत मनाये जाने के संबंध में चर्चा की गई। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत खरे, अनुविभागीय अधिकारी टीकमगढ़ श्री सौरभ मिश्रा, डिप्टी कलेक्टर एवं प्रभारी अधिकारी स्वास्थ्य श्री एमके प्रजापति, जिला कमान्डेंट होमगार्ड श्री श्रीधर शर्मा, परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास अभिकरण, अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) टीकमगढ़, डीआईओ (हैल्थ), तहसीलदार टीकमगढ़, जिला टीकाकरण अधिकारी, मुख्य नगरपालिका अधिकारी, नगर निरीक्षक कोतवाली टीकमगढ़, सहित संबंधित अधिकारी, विभिन्न सम्प्रदायों के धर्मगुरू, गणमान्य नागरिक, पत्रकारगण तथा शांति समिति के सदस्यगण उपस्थित रहे।

बैठक में उपस्थित डिप्टी कलेक्टर एवं प्रभारी अधिकारी स्वास्थ्य श्री मनोज कुमार प्रजापति द्वारा मध्यप्रदेश शासन गृह विभाग द्वारा कोरोना वायरस संकमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु धार्मिक कार्यकम एवं त्यौहार के संबंध में जारी दिशा निर्देशों एवं दिनॉक 16.10.2020 से दंड प्रकिया सहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत आदेश प्रभाशील होना बताया गया तथा सभी सम्प्रदाय के व्यक्तियों से त्यौहार मनाये जाने के संबंध सुझाव मांगे गये।

बैठक में उपस्थित हिन्दू सम्प्रदाय के कुछ सदस्यों द्वारा दशहरा पर्व पर पूर्व की परम्परा के अनुसार रावण दहन नजरबाग में प्रतीकात्मक रूप से कराये जाने का अनुरोध किया गया। साथ ही नवदुर्गा मूर्ति विसर्जन में कम सख्या में लोगों को अनुमति दिये जाने का अनुरोध किया गया। इसी प्रकार कुछ मुस्लिम सम्प्रदाय के व्यक्तियों द्वारा ईद-मिलाद-उन-नवी 30 अक्टूबर 2020 को भी सीमित संख्या में जलसा निकाले जाने की अनुमति दिये जाने का आग्रह किया गया। बैठक में उपस्थित मीडिया के लोगों द्वारा त्यौहारों पर नगर की ट्रेफिक व्यवस्था को ठीक कराने का आग्रह किया गया तथा पुलिस की पर्याप्त व्यवस्था कराने का आग्रह किया गया।

कलेक्टर श्री द्विवेदी द्वारा बैठक में पूर्व में गणेश उत्सव, ईद तथा मोहर्रम के त्योहारों पर सभी सम्प्रदाय के लोगों द्वारा शासन की गाईड लाईन का पालन किये जाने पर धन्यवाद ज्ञापित किया एवं बताया कि कि कोरोना महामारी का समय है, हम सबने मिलकर इसे संयम एवं बुद्धिमत्ता नियंत्रित किया है जिसके कारण आज जिले में एक-दो कोरोना संकमित निकल रहे हैं। निश्चित रूप से हम सभी को त्यौहार मनाने का अधिकार है। हम त्यौहार सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए तथा मॉस्क का उपयोग करते हुए मनाये। साथ ही सेनेटाईजर का भी उपयोग करें। चल समारोह के लिए शासन द्वारा मनाही की गयी है। अगले वर्ष जब कोरोना का संकमण समाप्त हो जायेगा, हम दुगने उत्साह से त्यौहार मना सकते हैं।

श्री द्विवेदी द्वारा बैठक में उपस्थित सभी धर्म, पंथ, सम्प्रदाय के धर्मगुरूओं से म.प्र. शासन गृह विभाग द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु जारी दिशा निर्देशों तथा कोविड संकमण को दृष्टिगत रखते हुए धार्मिक/ सामाजिक आयोजन के लिए चल समारोह निकालने की अनुमति नहीं होगी। विसर्जन के लिए भी सामूहिक चल समारोह की भी अनुमति नहीं होगी। बैठक में रावण दहन का प्रतीकात्मक रूप से कराये जाने का जो सुझाव आया है। इसके संबंध में नगरपालिका द्वारा प्रतीकात्मक रूप से रावण दहन किया जायेगा, जिसमें आमजन का नजरबाग प्रांगण में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

पुलिस अधीक्षक श्री खरे द्वारा बैठक में बताया गया कि त्यौहारों पर पुलिस व्यवस्था अच्छी तरह से लगायी जायेगी। शासन के निर्देशों का पालन कराया जायेगा, जिसमें सभी लोग सहयोग करें। बैठक में उपस्थित सभी सम्प्रदाय के लोगों द्वारा जिला प्रशासन को आश्वस्त किया गया कि शासन की हर गाईड लाईन का पालन किया जायेगा तथा पूर्व में जिस प्रकार से कोरोना संकमण के दौरान हम लोग त्यौहार मनाते रहे हैं, उसी प्रकार आने वाले त्यौहार भी शासन की गाईड लाईन के अनुसार मनाये जायेंगे।

रिपोर्ट दित्यपाल राजपूत

blat