हिन्दू महासभा ने दाढ़ी रखने वाले दरोगा की बर्खास्तगी की मांग

 

मेरठ । बागपत जनपद में दाढ़ी रखने के कारण निलंबित होने वाले दरोगा को अखिल भारत हिन्दू महासभा ने बर्खास्त करने की मांग की है। हिन्दू महासभा ने विजयदशमी कार्यक्रम पर हिन्दुओं से हथियार खरीदने की अपील की। शारदा रोड स्थित अखिल भारत हिन्दू महासभा कार्यालय पर कार्यकर्ताओं ने विजयदशमी कार्यक्रम का आयोजन किया। इस मौके पर परंपरागत तरीके से शस्त्रों का पूजन किया गया। हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आशोक शर्मा ने कहा कि हिंदू अगर 100 रुपये कमाता है तो उसे 20 रुपये के हथियार जरूर खरीदने चाहिए। शास्त्रों की रक्षा के लिए शस्त्र उठाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि पिछले कई वर्षों से अखिल भारत हिंदू महासभा के इस कार्यालय पर प्राचीन अस्त्र-शस्त्रों का पूजन लगातार होता चला आ रहा है। इस वर्ष कोरोना आपदा के कारण शासन-प्रशासन के निर्देशों का पालन करते हुए सिर्फ कुछ ही कार्यकर्ताओं को कार्यक्रम में आने की अनुमति दी गई। उन्होंने कहा कि बागपत में दाढ़ी रखने वाले दरोगा को बर्खास्त किया जाना चाहिए। देश के अंदर कट्टरता का बीज बोया जा रहा है। दाढ़ी रखने के बाद नौकरी के लालच में दरोगा ने अपनी दाढ़ी कटवा ली। उसने धर्म का प्रचार करने के लिए दाढ़ी रखी थी। नौकरी के लालच में अब धर्म को भूल गए। अगर दरोगा जी धर्म के पक्के थे तो दाढ़ी नहीं कटवानी थी। हिंदू महासभा के प्रदेश प्रवक्ता व जिला अध्यक्ष अभिषेक अग्रवाल ने बताया कि शास्त्रों के अनुसार शस्त्रों की पूजा करना जरूरी है। विजयदशमी के पावन पर्व पर सभी शपथ लें कि अपने परिवार के अंदर अपने घर के अंदर अपनी दुकान के अंदर कोई ना कोई ऐसा शस्त्र अवश्य रखेंगे जिससे हम विपत्ति के समय रक्षा कर सकें। इस मौके पर महानगर अध्यक्ष भरत राजपूत, प्रचार मंत्री अरविंद शर्मा, दीपक शर्मा आदि मौजूद थे।

blat