फिरोजाबाद । जनपद की एसओजी टीम व थाना नारखी पुलिस ने सुपारी लेकर हत्या करने वाले शार्प शूटरों व सुपारी देने वाले व्यक्तियों को गिरफ्तार कर भाजपा नेता हत्याकांण्ड का खुलासा किया है। भाजपा नेता की हत्या जमीनी विवाद में सुपारी लेकर कराई गई थी। पुलिस ने सभी को जेल भेजा है।
एसएसपी सचिन्द्र पटेल ने बताया कि 16 अक्टूबर की रात थाना नारखी के कस्वा नगला बीच में भाजपा नेता दयाशँकर गुप्ता की कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस सम्बंध में थाने में हत्या व हत्या के षणयंत्र का नामजद मुकदमा दर्ज किया गया था। नामजद अभियुक्तगणों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका था। इस घटना में पुलिस को अज्ञात शूटरों की तलाश जारी थी।
एसएसपी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर 24 अक्टूबर की रात्रि थानाध्यक्ष नारखी वएसओजी टीम द्वारा हत्या की घटना में प्रकाश में आये शूटरों व उसके साथियों की जानकारी करते कराते हुये पचोखरा की तरफ से आने वाली दो मोटर साइकिलों पर सवार 04 व्यक्तियों को आलमपुर पुलिया से हिरासत में लिया। जिनसे गहनता व विश्वास में लेकर पूछताछ की गयी तो उन्होंने अपना नाम पता बताते हुये दयाशंकर गुप्ता उर्फ डी के की हत्या का इकवाल किया। उन्होंने हत्याकाण्ड के पीछे व्यक्तियों का नाम पता बताते हुये सनसनी बाते बतायी। उन्होंने हत्या कराने वाले व्यक्तियों का नाम ईश्वर देव गुप्ता, फूल किशोर उर्फ फूले पुत्रगण सुरेश चंद्र गुप्ता निवासी नगला बीच थाना नारखी फिरोजाबाद बताये। पूछताछ में अभियुक्तगण द्वारा हत्या कराने का कारण जमीनी विवाद व आपसी मतभेद बताया है। हत्या कराने में तय की गयी सुपारी की रकम 4 लाख रुपये व 50 गज का एक प्लाट जिसमें से 60 हजार रुपये घटना से पहले बतौर एडवान्स दिये जाने की बात को स्वीकार किया है। घटना की पूरी साजिश जीतू उर्फ जितेन्द्र की समर पर रची जाने की बात भी बतायी। दिये गये 60 हजार रुपये आपस में बाँटकर खर्च किये जाने की बात व बची हुयी शेष रकम को मामला शान्त होने के बाद ईश्वर देव गुप्ता व उसके भाई फूले के द्वारा दिये जाने की बात बतायी गयी।
गिरफ्तारशुदा अभियुक्त अनिल पण्डित उर्फ गौतम व उसके साथियों से हुई पूछताछ से प्रकाश में आये सुपारी देने वाले व्यक्ति ईश्वर देव गुप्ता व उसके भाई फूले व उसके एक साथी जीतू पहलवान उर्फ जितेन्द्र को गिरफ्तार किया गया। जिनसे हिरासत में लेकर गहनता से पूछताछ की गयी तो दयाशंकर गुप्ता उर्फ डी.के. की हत्या की योजना जीतू उर्फ जितेन्द्र पहलवान की मौजूदगी में जीतू की ही समर पर हत्या की पूरी साजिश रची गयी। हत्यारों को सुपारी की रकम तय करने की बात व बतौर एडवान्स कुछ रुपये देने की बात को भी स्वीकार किया गया व मामला शान्त हो जाने के बाद पूरा पैसा दिये जाने की बात को भी स्वीकार करते हुये हत्या कराये जाने के पीछे आपसी मतभेद व जमीनी विवाद होना बताया गया ।
एसएसपी ने गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम अनिल पण्डित उर्फ गौतम पुत्र खजान सिहं जाटव निवासी मेङू थाना हाथरस जंक्शन जनपद हाथरस, जयकेश उर्फ जैकी पुत्र सन्तोष यादव निवासी जेवङा तिराहा थाना मक्खनपुर, शिशुपाल उर्फ गब्बर पुत्र राजपाल ठाकुर निवासी ग्राम मरसैना थाना पचोखरा, बली मौहम्मद पुत्र नसरुद्दीन निवासी रतीगढी थाना नारखी, ईश्वरदेव गुप्ता पुत्र सुरेशचन्द्र गुप्ता निवासी नगला बीच थाना नारखी, फूलकिशोर उर्फ फूले पुत्र सुरेशचन्द्र गुप्ता निवासी नगला बीच थाना नारखी, जीतू उर्फ जितेन्द्र पुत्र रामपाल सिहं जादौन निवासी नगला सिकन्दर थाना नारखी बताये है। जवकि पुलिस ने फरार अभियुक्त का नाम दुर्वेश पुत्र चंद्रपाल सिंह यादव निवासी नगला नरैनी थाना सिरसागंज बताया है। जिस पर 25 हजार का ईनाम घोषित किया गया है। पुलिस ने इनके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त तीन तमंचा, कारतूस व मोटर साईकिल बरामद की है। पुलिस ने सभी को जेल भेजा है।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673