कुशीनगर । उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में कोरोना संक्रमण दर में कमी आते ही लोग लापरवाही बरतने लगे हैं। बाजार से लेकर सरकारी दफ्तरों और भीड़भाड़ वाली जगहों पर लोग बिना मास्क के दिख रहे हैं। एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री ने भी अपने संबोधन में लोगों से सावधानी बरने की अपील की थी। ऐसे में लोगों की लापरवाही कहीं सेहत पर भारी न पड़ जाए।
जिले में कोरोना के पांच हजार से अधिक मामले अब तक सामने आ चुके हैं। 54 लोगों की जान भी जा चुकी है। जुलाई-अगस्त में जब बीमारी पीक पर थी उस वक्त लोगों ने सतर्कता बरती तो उसका अच्छा परिणाम भी दिखा और अक्तूबर के पहले पखवारे में बीमारी पर नियंत्रण होता दिखा। संक्रमण दर चार प्रतिशत से भी नीचे आई। परंतु अब लोग लापरवाह हो गए हैं। बुधवार को सुभाष चौक पर भीड़ लगी थी और उसमें इक्का-दुक्का लोग ही मास्क पहने दिखे। कठकुइयां मोड़ पर भी यही नजारा था। अधिकांश लोग बिना मास्क पहने ही आते-जाते दिखे। बिजली विभाग के दफ्तर में बिल जमा करने वाले पर्याप्त जगह होने के बावजूद एक दूसरे से सटकर खड़े थे और वह भी बिना मास्क पहने। अन्य जगहों पर भी यही नजारा दिखा।
जिला अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक व कोविड-19 के नोडल अफसर डॉ. रमाशंकर कहना है कि विशेषज्ञ सर्दियों में कोरोना की दूसरी लहर को लेकर कई बार आशंका जता चुके हैं। इसके बावजूद लोग सावधानी नहीं बरत रहे। यह स्थिति नवंबर-दिसंबर में स्थिति को भयावह बना सकती है। इस लिए जरूरी है कि लोग जब तक बीमारी से बचाव के लिए टीकाकरण शुरू नहीं हो जाता, मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से ख्याल रखें। यह हम सभी के जीवन के साथ ही परिवार के जीवन के लिए भी महत्वपूर्ण है।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673