अमेरिका में 67 साल बाद किसी महिला को मौत की सजा मिली है. बताया जा रहा है कि मौत की सजा पाने वाली महिला को गर्भवती की हत्या करने और उसका पेट काटकर बच्चे का अपहरण करने का दोषी पाया गया था.
अमेरिका में 67 साल बाद किसी महिला को मौत की सजा मिली है. बताया जा रहा है कि मौत की सजा पाने वाली महिला को गर्भवती की हत्या करने और उसका पेट काटकर बच्चे का अपहरण करने का दोषी पाया गया था. अमेरिकी कोर्ट के आदेश पर दोषी महिला को 8 दिसंबर को जानलेवा इंजेक्शन लगाकर मौत की सजा दी जाएगी.

दरअसल, 16 दिसंबर 2004 को पालतू कुत्ता खरीदने के बहाने 36 साल की मांटोगोमैरी की 23 वर्षीय बॉबी स्टीनेट के मिसौरी स्थित घर पहुंची थी. इसके बाद मांटोगोमैरी ने 8 महीने की गर्भवती स्टीनेट का रस्सी से गला घोंट दिया और फिर उसका पेट फाड़कर बच्चे को लेकर फरार हो गई.

पुलिस ने छानबीन के बाद मांटोगोमैरी को गिरफ्तार कर लिया. मिसौरी की एक कोर्ट में मांटोगोमैरी ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया था और फिर 2008 में उसे अपहरण और हत्या का दोषी ठहराया गया था. उसे मौत की सजा सुनाई गई इसके बाद मांटोगोमैरी ने कई संघीय अदालतों का दरवाजा खटखटाया, लेकिन हर जगह उसकी सजा को बरकरार रखा गया.

मांटोगोमैरी की उम्र अब 52 साल हो गई है और उसे इंडियाना के टेरे हौते जेल में रखा गया है. यहीं पर उसे 8 दिसंबर को जानलेवा इंजेक्शन लगाकर मौत की सजा दी जाएगी. मांटोगोमैरी ने जिस बच्ची का अपहरण किया था, उसकी उम्र अब 16 साल हो गई है. उसे उसके पिता को सौंपने का आदेश दिया गया है.
गौरतलब है कि अमेरिका में करीब 20 साल की रोक के बाद 3 महीने पहले ही मौत की सजा फिर से बहाल हुई है. इसके बाद भी लिसा मांटोगोमैरी 9वीं संघीय कैदी है, जिसे यह सजा मिलेगी. अमेरिका में 1953 में आखिरी बार किसी महिला को मौत की सजा दी गई थी.


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673