• January 23, 2021

कुशीनगर की आकांक्षा ने नीट परीक्षा में आकांक्षाओं पर खरी उतरी : शतप्रतिशत नंबर हासिल कर देश में दूसरा स्थान किया हासिल

 कुशीनगर की आकांक्षा ने नीट परीक्षा में आकांक्षाओं पर खरी उतरी : शतप्रतिशत नंबर हासिल कर देश में दूसरा स्थान किया हासिल

 

कुशीनगर । उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में भारतीय वायुसेना के सेवानिवृत सार्जेंट की बेटी ने नीट 2020 में शत प्रतिशत नंबर हासिल कर इस प्रतिष्ठित परीक्षा के टॉपरों में दूसरे नंबर पर अपना नाम दर्ज करा लिया है। इस उपलब्धि पर कुशीनगर से गोरखपुर तक जश्न् मन रहा है। आकांक्षा मूल रूप से कुशीनगर की रहने वाली हैं। शुक्रवार को उनकी कामयाबी का जश्नन गोरखपुर के कोचिंग संस्थारन में भी मना। आकांक्षा ने नीट-2020 की परीक्षा में आल इंडिया रैंक में दूसरा स्थान हासिल किया है। उसे 720 में 720 अंक मिले। वह यूपी टॉपर भी है। कुशीनगर की वह पहली लड़की बन गई है जिसने इस प्रतिष्ठित परीक्षा में इतना अच्छा रिजल्ट हासिल किया। परीक्षा का परिणाम आज नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा घोषित किए गया है।

कुशीनगर अभिनायकपुर की आकांक्षा सिंह ने इस परिणाम को सभी बाधाओं से लड़ते हुए प्राप्तग किया है। बिना किसी खास सहयोग या कोचिंग के डॉक्टर बनने के अपने सपने को पूरा किया। इस सपने को पूरा करने के लिए आकांक्षा ने दिन-रात एक कर दिया था। वह कुशीनगर से निकलकर गोरखपुर और यहां से दिल्लीा तक गईं। कड़ी मेहनत से तैयारी की। गोरखपुर में कोचिंग के दौरान उनकी मां उन्हें रोज कुशीनगर के बस स्टॉप तक लेकर जाती थीं। गोरखपुर से वापस आते समय कोचिंग का स्टॉकफ उसे बस स्टॉहप पर छोड़ता था।

कहते है प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती। इस बार नीट के रिजल्ट में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला है। यूपी के कुशीनगर जिले की रहने वाली आकांक्षा सिंह परीक्षा में 720 में से 720 नंबर हासिल किए है। आकांक्षा कुशीनगर के अभिनायकपुर गांव में रहती हैं। जब वह हाईस्कूल कर रहीं थीं तभी से उन्होंने नीट की तैयारी शुरू कर दी थी। वह बताती हैं कि नीट की कोचिंग के लिए वह रोज 70 किलोमीटर गोरखपुर जाती थी। बाद में 11 वीं 12वी दिल्ली में पढ़ाई की और फिर वहीं से नीट की कोचिंग की।

आकांक्षा बताती हैं कि पहले मैं 8वीं तक सिविल सर्विस में जाने की सोच रही थी! लेकिन दिल्ली स्थित एम्स मेरे लिए एक प्रेरणा है। 9वीं से मैंने उसे अपना सपना मानकर नीट की तैयारी की शुरू कर दी। 10वीं तक कुशीनगर में पढ़ने वाली आकांक्षा ने बताया कि मैं इस सफलता का श्रेय ईश्वर, माता पिता और अपने कोचिंग इंस्टीट्यूट को देना चाहती हूं। मैंने 11 व 12 दिल्ली के प्रगति पब्लिक स्कूल में पढ़ाई की। उम्र कम होने के नाते मुझे दूसरा स्थान मिला! आकांक्षा दूसरे स्थान पर हैं जबकि टॉपर शोएब के बारे में बताती हैं कि मेरी उम्र 17 साल है जबकि उनकी उम्र 18 के आसपास है इसलिए उनके प्रथम रैंक दिया गया है। वह बताती हैं कि मैंने यह कभी नहीं सोचा था कि मैं टॉप की श्रेणी में होऊंगी। हां लेकिन मैंने मेहनत से तैयारी की थी इसलिए मुझे टॉप 40 में आने की उम्मीद है। नीट की तैयारी करने वाले लक्ष्य हमेशा ऊंचा रखें जो लोग नीट की तैयारी कर रहे हैं। उनके लिए आकांक्षा का कहना है कि वह असफलता से घबराएं नहीं! बल्कि अपना लक्ष्य ऊंचा रखें और उसी के अनुसार तैयारी करें। सपने बड़े होने के साथ उसी लगन से तैयारी करने की भी आवश्यकता है।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4755