• January 24, 2021

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2728 नये मामले आये सामने

 प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2728 नये मामले आये सामने

लखनऊ । प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि आज ग्लोबल हैण्ड वाशिंग के अवसर पर हैण्ड वाशिंग के लाभ के बारे में प्रकाश डाला जा रहा है। वर्तमान में कोरोना संक्रमण के काल में हैण्ड वाशिंग, कोरोना से बचाव एवं उसके संक्रमण की कड़ी को तोडऩे के लिए सबसे अच्छा उपाय है। उन्होंने कहा कि समय-समय पर हाथ को साबुन-पानी से धोने व साफ रखने से शरीर के अन्दर विषाणु जाने एवं स्वयं को संक्रमण से बचाया जा सकता है। श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश ने कल कोविड-19 की टेस्टिंग में नया बैंच मार्क स्थापित करते हुए कुल जांच की संख्या सवा करोड़ का आकड़ा पार किया है। प्रदेश में 30 सितम्बर, 2020 को कुल टेस्टिंग में एक करोड़ का आकड़ा पार किया था। पिछले 15 दिनों में 25 लाख और टेस्ट किये गये। कल प्रदेश में एक दिन में कुल 1,54,163 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,25,09,210 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश कुल टेस्टिंग में देश में प्रथम स्थान पर है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2728 नये मामले आये हैं। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 3239 व्यक्ति उपचारित होकर डिस्चार्ज किये गये हैं। अब तक कुल 4,04,545 लोग पूर्णतया उपचारित होकर डिस्चार्ज किये गये। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत अब बढ़कर 90.42 प्रतिशत हो गया है। प्रदेश में 36,295 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। एक्टिव केसों में पिछले 04 सप्ताह में 47 प्रतिशत की कमी आयी है। होम आइसोलेशन में 16,995 लोग हैं। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 2,48,045 लोग होम आइसोलेशन की सुविधा प्राप्त करते हुए 2,31,050 लोगों ने अपने होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर ली है। श्री प्र्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,40,456 क्षेत्रों में 4,19,563 टीम दिवस के माध्यम से 2,70,97,661 घरों के 13,37,13,142 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि जब तक कोविड-19 की निश्चित दवा या वैक्सीन नहीं आती तब तक संक्रमण से बचाव ही सबसे अच्छा उपचार है। उन्होंने कहा कि सावधानी बरत कर हम खुद बच सकते हैं और दूसरों को इस संक्रमण से बचा भी सकते हैं। उन्होंने बताया कि चिकित्सकीय उपचार के लिए ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया गया है। ई-संजीवनी के माध्यम से 2,577 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। अब तक कुल 1,39,830 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल पर चिकित्सकीय परामर्श लिया।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4755