नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी का साया भारत के मानवरहित अंतरिक्ष अभियान ‘गगनयान’ पर भी पड़ सकता है। वैज्ञानिकों ने अंदेशा जताया है कि इसके पहले चरण के लॉन्ची में देरी हो सकती है जिसके दिसंबर 2020 में प्रक्षेपण की योजना थी। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने दिसंबर 2021 में ‘गगनयान’ के तहत मानव को पहली बार अंतरिक्ष में भेजने की योजना से पहले दो मानवरहित मिशनों को अंतरिक्ष में भेजने की योजना बनाई है। इस संभावित देरी के बारे में बारे में हाल ही में अंतरिक्ष आयोग को बता दिया गया है। अंतरिक्ष आयोग अंतरिक्ष से जुड़े मुद्दों पर नीति बनाने वाली शीर्ष इकाई है। इसरो के अध्यक्ष और अंतरिक्ष विभाग के सचिव के. सिवन अंतरिक्ष आयोग के प्रमुख हैं। सोमवार को उन्होंीने गगनयान में होने वाली देरी की जानकारी दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो साल पहले अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में मानव अंतरिक्ष मिशन की घोषणा की थी। गगनयान मिशन का उद्देश्य भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर 2022 तक तीन सदस्यीय दल को पांच से सात दिन की अवधि के लिए अंतरिक्ष में भेजना है। उसी हिसाब से इसरो ने मिशन की योजना बनानी शुरू कर दी थी। इसके तहत पहले मानवरहित मिशन को दिसंबर 2020 में भेजने की योजना बनाई गयी और दूसरे मानवरहित मिशन को जून 2021 में भेजने का विचार है। इसरो ने संकेत दिया था कि कोरोना वायरस महामारी के कारण पैदा हुई मुश्किलों की वजह से उसका कामकाज प्रभावित हुआ है। हालांकि नवंबर के पहले सप्ता ह में इस पर काम शुरू हो जाएगा लेकिन कई मिशनों में देरी हो सकती है क्यों कि अधिकारियों को अलग-अलग शहरों से रॉकेट पोर्ट तक पहुंचने में दिक्कईत हो रही है। कोरोना से जो बड़ी परियोजनाएं प्रभावित हुई हैं, उनमें चंद्रयान-3 और गगनयान हैं। चंद्रमा पर भेजे जाने वाले तीसरे मिशन चंद्रयान-3 को इस साल के अंत में प्रक्षेपित किये जाने का विचार है। सूत्रों ने कहा कि मनुष्य को अंतरिक्ष में भेजने के मिशन की 2022 की समय सीमा का पालन करने के लिए प्रयास जारी हैं। इसरो के एक सूत्र ने यहां तक कहा, ‘हम मानवरहित मिशन को भेजने की दिसंबर 2020 की समय सीमा को पूरा नहीं कर सकेंगे। कोरोना वायरस महामारी ने कई अवरोध पैदा किये हैं। अंतरिक्ष आयोग को भी हाल ही में यह बता दिया गया था।’


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673