कोर्ट पहुंचा पीड़ित परिवार, सीमा कुशवाहा करेंगी दिल्ली या मुंबई कोर्ट में केस ट्रांसफर की मांग

लखनऊ। हाथरस प्रकरण में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ में सोमवार दोपहर को संबंधित अफसर व पीड़ित परिवार को गेट नंबर 4 व 5 से अंदर ले जाया गया। कोर्ट में डीजीपी डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी के साथ अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के साथ हाथरस के डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार व एसपी विनीत जायसवाल भी मौजूद हैं। इससे पहले हाथरस कांड में मृत युवती के परिवार की ओर से अपना पक्ष रखने जा रहीं सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता सीमा कुशवाहा ने मीडिया से कहा कि वह हाईकोर्ट में पीड़ित पक्ष की ओर से मुख्य तीन मांगे रखेंगी। परिवार की सुरक्षा, विवेचना के तथ्यों को गोपनीय रखे जाने और इस केस के ट्रायल को दिल्ली अथवा मुंबई की कोर्ट में ट्रांसफर किये जाने की मांग शामिल है। उल्लेखनीय है कि पूरे देश में चंदपा क्षेत्र के बूलगढ़ी गांव की बेटी के साथ हुई कथित दरिंदगी का मामला सुर्खियों में है। हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने इस पर स्वत: संज्ञान लिया। इस केस की सुनवाई जस्टिस पंकज मित्तल व जस्टिस राजन रॉय की बेंच के समक्ष सूचीबद्ध किया गया है।

blat