गोण्डा। उत्तर प्रदेश में गोण्डा जिले के इटियाथोक कोतवाली क्षेत्र में रामजानकी मंदिर के पुजारी को दबंगों द्वारा गोली मारने की घटना पर मंदिर के महंत सीताराम दास ने पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुये सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया हैं।
अयोध्या धाम की तपस्वी छावनी से जुड़े महंत सीताराम दास ने कुछ भूमाफियाओं से चल रहे विवाद के बाद उन्हें मिली सुरक्षा मे कटौती एवं इसी सिलसिले मे जेल से छूटे आरोपियों पर कठोरतम कार्यवाही न किये जाने को घटना का मुख्य कारण बताया हैं।
महंत के अनुसार, वर्षों से जर्जर पड़े मंदिर परिसर की करीब 120 बीघा जमीन को हथियाने को लेकर भूमाफिया इसके पूर्व भी उनपर हमले कर चुके हैं जिसके पश्चात उन्हें पुलिस की सुरक्षा मिली थी लेकिन हाल ही मे पुलिस प्रशासन द्वारा उनकी व पुजारी की सुरक्षा मे कटौती कर सिपाहियों के स्थान पर बगैर आर्म्स होमगार्ड तैनात कर दिये गये जिसके कारण जेल से छूटे दूसरे पक्ष के लोगों ने मौका पाकर पुनः हमला कर दिया ।
उधर, पुलिस कप्तान शैलेश कुमार पाण्डेय ने शीघ्र फरार आरोपियों की गिरफतारी व महंत को पर्याप्त सुरक्षा देने की बात कही हैं । उन्होने बताया कि पीड़ित पुजारी सम्राट दास की हालत स्थिर हैं ।
गौरतलब है कि इटियाथोक इलाके में मनोरमा नदी के तट पर स्थित प्राचीन श्री रामजानकी मंदिर के पुजारी सम्राट दास अपने आवास पर थे। देर रात करीब दो बजे चार लोग जमीनी विवाद के चलते रंजिशन उन्हें जान से मारने की नीयत से घुसे और फायर झोंककर फरार हो गये । पुजारी के बायें कंधे पर गोली लगने के बाद निकल गयी ।
पुलिस ने उपचार के लिये जिला अस्पताल ऩे भर्ती करा दिया जहां चिकित्सकों ने उन्हें लखनऊ ट्रामा सेंटर भेज दिया है । इस सिलसिले मे चार लोगों के विरुद्ध नामजद रिपोर्ट लिखायी गयी हैं इनमें से दो को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही हैं । उन्होनें कहा कि दोनो पक्षों मे जमीनी विवाद को लेकर मुकदमा भी चल रहा हैं ।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673