चीन सीमा पर तैनात सैनिक रामेश्वर गुप्ता का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार संपन्न हुआ

बेलवा कारखाना।कुशीनगर उक्त गांव निवासी रामेश्वर गुप्ता (45 बर्ष) जीआरईएफ में चीन सीमा पर तैनात थे । बीते छः अक्टूबर के शाम उनके यूनिट के अधिकारियों ने उनके बड़े बेटे अजीत के नंबर पर फोन करके बताया कि तुम्हारे पिता का ड्यूटी के दौरान हृदय गति रुकने से मृत्यु हो गयी है सूचना के बाद घर सहित पूरे परिवार में कोहराम मच गया । अधिकारियों ने शहीद के पार्थिव शरीर को आठ अक्टूबर को सुबह तक भेजने को कहा था लेकिन तकनीकी कारणों से शव गुरुवार के रात्रि ग्यारह बजे तक घर पहुच सकी। सुबह जब शहीद के अंतिम संस्कार कराने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कसया पूर्ण बोहरा, कक्षेत्राधिकारी तमकुहीराज फूलचंद कनौजिया, प्रभारी निरीक्षक पटहेरवा अतुल्य पाण्डेय, मय फोर्स मौके पर पंहुचे तो शहीद की पत्नी ने परिवार को एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता, दोनों पुत्रों को नौकरी, गांव के मुख्य मार्ग का नाम शहीद के नाम से किये जाने और गैस एजेंसी दिलाने की मांग पूरा करने पर ही अंतिम संस्कार की बात करने लगें । ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को दिया । इसके बाद शहीद के घर पंहुचे क्षेत्रीय सांसद डॉ रामपतिराम त्रिपाठी, विधायक गंगासिंह कुशवाहा, राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त राजेश्वर सिंह आदि लोगों ने शहीद के पत्नी से घंटो बातचीत के इस सभी मांगो को गंभीरता से पूरा कराने का आश्वासन दिलाया। इसके बाद शव का यात्रा शुरू हुआ । पुलिस के जवानों ने शहीद शहीद को गॉड ऑफ ऑनर दिया। इसके बाद शहीद के बड़े पुत्र अजीत ने मुखाग्नि दिया । इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष विनय गौंड, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेमचन्द, सत्यम शुक्ला, अजय राय, श्रीनिवास राय, प्रमुख प्रतिनिधि पशुपतिनाथ जायसवाल, रामबृक्ष गिरी, मुकुल तिवारी, अमिताभ मिश्र, नरेंद्र यादव, प्रधान संघ अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार सिंह, विनय तिवारी सहित हजारों के संख्या में लोग शहीद के अंतिम यात्रा में शामिल रहे।

blat