कानपुर: उर्सला अस्पताल मे सर्जन की बङी लापरवाही आई सामने…

रिपोर्ट:ऋषभ तिवारी

कानपुर। लाटूश रोड निवासी संजय मजदूरी करके परिवार चलाते है। पिछले दिनों उनकी पत्नी नीतू के पेट मे दर्द हुआ तो उर्सला अस्पताल मे दिखाया। डॉक्टर ने जांच के बाद बताया कि गॉल ब्लैडर ( पित्त की थैली ) मे पथरी है। ऑपरेशन करके गॉल ब्लैडर निकालना पङेगा। पिछले बुधवार को ऑपरेशन हुआ। नीतू ने बताया कि ऑपरेशन के बाद उसे वार्ड मे शिफ्ट कर दिया गया। कुछ देर बाद डॉक्टर उसे फिर से ऑपरेशन थियेटर लेकर चले गए। उसी दिन उसका दूसरा ऑपरेशन भी कर दिया। दो बार ऑपरेशन थियेटर लेकर जाने पर उसके पति संजय को शक हुआ। उसने पङताल शुरू की तो पता चला कि डॉक्टर ने गलती से ऑपरेशन करके उसकी पत्नी की बच्चेदानी निकाल दी थी। गलती का अहसास होने पर दोबारा ऑपरेशन करके गॉल ब्लैडर निकाला गया। संजय का आरोप है कि ऑपरेशन डॉक्टर प्रशांत मिश्रा ने किया था। जब डॉ प्रशांत से पूछा गया तो उन्होने गलत ऑपरेशन करने की बात स्वीकार की। उनकी इस लापरवाही की शिकायत संजय ने उर्सला के निदेशक से की उसके बाद भी उर्सला निदेशक ने अब तक डॉक्टर के खिलाफ कोई कार्रवाई नही की है। इधर, उर्सला अस्पताल निदेशक डॉक्टर आरसी भट्ट ने कहा कि पीङित परिवार ने कोई शिकायत नही की है। मामले की जांच कराई जा रही है। डॉक्टर प्रशांत स्थानांतरण पर उन्नाव से कानपुर भेजे गए है।

blat