इटावा में फर्जीवाड़ा करने वाले दो सगे भाई गिरफतार

इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा के जसवंतनगर इलाके में पुलिस ने फर्जीवाड़ा करने वाले संगठन से जुडे दो सगे भाईयो को गिरफतार कर उनके कब्जे से 40 सिलाई मशीन और दो साइकिलो को बरामद किया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने मंगलवार को यहॉ यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आशा फाउंडेशन के नाम से महिलाओं को प्रलोभन देकर ठगी करने में जुटे दो लोगों को पुलिस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया। इस दौरान उनकी एक महिला साथी पुलिस को चकमा देकर भाग निकली।

पुलिस को मौके से विभिन्न कंपनियों की सिलाई मशीनें, साइकिलें, सीलें, खाली फार्म तथा दो हजार से ज्यादा महिलाओं के रजिस्ट्रेशन फार्म मिले। उन्होंने बताया कि आशा फाउंडेशन के फर्जीवाड़े की गतिविधियो को लेकर पिछले दिनो जसवंतनगर थाने पर एक मुकदमा भी दर्ज किया गया था उसके बाद ही इस मामले की गहनता से जांच की जा रही थी। आरोपी पांच हजार से लेकर 50 हजार तक लेकर रूपये गरीबों से लेकर फार्म भरवा कर रजिस्ट्रेशन कर रहे थे तथा महिलाओ के आधार कार्ड भी जमा कराये थे।

इसके एवज में आरोपी दीपावली के बाद उन्हें साइकिल, सिलाई मशीनें तथा मकान आदि दिलवाने का झांसा दे रहे थे। पुलिस ने इसकी जांच पड़ताल की और कुछ महिलाओं को रजिस्ट्रेशन के लिए भेजा तो शिकायत सही निकली। पुलिस ने लोहामंडी में छापा मारकर मुलदीप तथा प्रदीप को गिरफ्तार किया। दोनों सगे भाई है और वे लोहामंडी के निवासी है। मौके से एक महिला भाग निकली। पुलिस ने एक महिला समेत तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

एसएसपी ने बताया कि मौके पर उन्हें लगभग 40 सिलाई मशीनें, दो साइकिल जेंट्स व एक लेडीज, मोहरें, रजिस्टर, खाली फार्म आदि मिले हैं। पकड़े गए भाइयों से पूछताछ की गई तो उन्होने बताया कि हम लोगों को इस सामान को दिखाकर 200 रूपये लेकर फार्म भरवा कर लालच देकर धोखाघड़ी करते हैं। जिन लोगो के फार्म भरवाये है उन सब के नाम रजिस्टर में अंकित है। दोनों ही लोग आशा फाउंडेशन नाम के कोई प्रपत्र नहीं दिखा सके।

blat