नई दिल्ली। केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गांवों से शहरों की ओर पलायन को बड़ी चुनौती करार देते हुए कहा है कि सरकार इससे निपटने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है जिससे सभी को मूलभूत सुविधाओं से युक्त आवास उपलब्ध हो सके।

श्री पुरी ने सोमवार को विश्व पर्यावास दिवस के अवसर पर यहां अपने कार्यालय से एक वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि शहरों की ओर ग्रामीण क्षेत्रों से व्यापक स्तर पर पलायन हो रहा है। इससे शहरी निकायों के समक्ष सभी को बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराने की बड़ी चुनाैती पैदा हो गयी है। सरकार ने इससे निपटने के लिए युद्ध स्तर पर काम करते हुए एक योजना तैयार की है। शहरों में बड़ी मात्रा में किरायें पर रहने के लिए मकान बनाए जा रहे हैं। इसके लिए प्रारूप तैयार कर लिया गया है और इस पर तेजी से काम चल रहा है।

उन्होंने बताया कि नए आवास बनाने में पर्यावरण के अनुकूल तकनीक अपनाने पर जोर दिया जा रहा है। इससे प्रकृति पर विपरीत प्रभाव डालने वाले कारणों को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी। इसके लिए अत्याधुनिक तकनीक हासिल करने पर बल दिया जा रहा है। इस अवसर पर मंत्रालय में सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। इस माैके पर कईं पुस्तिकाओं का विमोचन भी किया गया।

श्री पुरी ने स्वच्छ भारत अभियान की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि व्यक्तिगत और सामुदायिक शौचालय बनाने के लक्ष्य को न केवल हासिल कर लिया गया है जबकि दो अक्टूबर 2019 तक लक्ष्य से अधिक शौचालय बनाए गये हैं। यह महात्मा गांधी को सच्ची और सर्वश्रेष्ठ श्रद्धांजलि है। लोगों की जन भागीदारिता से यह जन आंदोलन बन गया है। देश में कम से कम दो फिल्में शौचालय को केंद्र में रखकर बनी है। यह क्रांतिकारी बदलाव है।

उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी अभियान में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। सभी शहरों में एकीकृत कमान एवं निगरानी केंद्रों की स्थापना की गयी है जो कोविड महामारी के प्रकोप को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। उन्होंने रेहडी पटरी और फेरी लगाने वाले दुकानदारों के लिए प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का उल्लेख किया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सतत् विकास एजेंडा 2030 धरती और मानव के लिए हैं। इसके 17 सतत् विकास लक्ष्य और 169 उपलक्ष्य को हासिल करने के लिए केंद्र सरकार की सभी योजनाओं को तैयार किया गया है। उन्हाेंने कहा कि देश की विशाल आबादी और विविधता को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र के विकास लक्ष्यों को हासिल करना बडी चुनौती है हालांकि उन्होंने विश्वास जताया कि भारत इसमें कामयाब होगा।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673