संक्रमण के 100 या उससे ज्यादा मामले वाले इलाकों का हो ‘भौगोलिक मानचित्रण’ : योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 से उबरने की दर में तेजी लाने के निर्देश देते हुए रविवार को कहा कि संक्रमण के रोजाना औसतन 100 या उससे ज्यादा मामलों वाले जिलों में भौगोलिक मानचित्रण कराकर संक्रमण वाले क्षेत्रों (क्लस्टर) की पहचान की जाए। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री ने एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कोविड-19 के संक्रमण के मामलों में कमी आने पर संतोष जाहिर किया। साथ ही कहा कि कोविड-19 मरीजों के ठीक होने की दर में वृद्धि के लिए तेजी से प्रयास किए जाएं। योगी ने कहा कि कोविड-19 के अधिक मामलों वाले जिलों पर खास ध्यान देते हुए सबसे पहले प्रतिदिन 100 से अधिक मामले वाले जनपदों में भौगोलिक मानचित्रण (जियोग्राफिकल मैपिंग) कराकर संक्रमण वाले इलाकों की पहचान की जाए। दूसरे चरण में 50 से अधिक मामले वाले जनपदों में यह व्यवस्था लागू की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि चिह्नित किए गए इलाकों में निषिद्ध क्षेत्र बनाकर संक्रमण को नियंत्रित करने की प्रभावी कार्यवाही की जाए। इन क्लस्टर में प्रत्येक व्यक्ति की चिकित्सा जांच की जाए। उन्होंने कहा कि गृह पृथकवास में रह रहे मरीजों के साथ-साथ अस्पताल में भर्ती रोगियों से भी सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से कुशलक्षेम लिए जाने की व्यवस्था जारी रखी जाए। इससे लोगों का मनोबल बढ़ता है और जन विश्वास में वृद्धि भी होती है। योगी ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से सफलतापूर्वक उपचारित व्यक्तियों के लिए अपनाई गई चिकित्सा व्यवस्था का निरन्तर गहन अध्ययन किया जाए। इससे अन्य संक्रमित लोगों को उपचारित करने में मदद मिलती है।

blat