-परिवीक्षाधीन पुलिस उपाधीक्षकों व सहायक अभियोजन पद के 60 अधिकारियों का प्रशिक्षण पूरा

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्षों में प्रदेश सरकार द्वारा पुलिस में 1.37 लाख से अधिक पुलिस कॉन्स्टेबलों और सब-इंस्पेक्टरों की भर्ती के कार्यक्रम को पूरी पारदर्शिता के साथ सफलतापूर्वक सम्पन्न किया गया है। वहीं अब सभी विभाग युद्धस्तर पर इस कार्यक्रम को आगे बढ़ा रहे हैं। आगामी कुछ समय में हम 03 लाख नई शासकीय भर्तियों को भी प्रदेश में पूरा करने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री शनिवार को डॉ. भीमराव अम्बेडकर पुलिस अकादमी, मुरादाबाद के आधारभूत प्रशिक्षणोपरांत परिवीक्षाधीन पुलिस उपाधीक्षकों एवं सहायक अभियोजन अधिकारियों के दीक्षान्त समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में ऊर्जा से भरपूर हमारे नौजवानों के लिए अधिकाधिक नौकरियां सुलभ हो सकें, यह प्रदेश सरकार का संकल्प रहा है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा चयन के उपरांत इन सभी अधिकारियों ने अपना यह प्रशिक्षण कोविड-19 महामारी के दौरान पूरा किया है। मैंने प्रदेश के सभी आयोगों के अध्यक्षों के साथ स्वयं बैठक कर उत्तर प्रदेश में सभी रिक्तियों को भरने के लिए समयबद्ध ढंग से रिक्रूटमेंट की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्षों के दौरान प्रदेश सरकार ने सभी रिक्तियों की भर्ती प्रक्रिया को पूरी शुचिता और पारदर्शिता से सम्पन्न कराते हुए प्रदेश के तीन लाख से अधिक नौजवानों को सरकारी सेवाओं में नौकरी देने में सफलता प्राप्त की है। मुख्यमंत्री शनिवार को डॉ. भीमराव अम्बेडकर पुलिस अकादमी, मुरादाबाद के आधारभूत प्रशिक्षणोपरांत परिवीक्षाधीन पुलिस उपाधीक्षकों एवं सहायक अभियोजन अधिकारियों के दीक्षान्त समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जब पूरी दुनिया कोरोना से त्रस्त है, उन स्थितियों में भी डॉ. भीमराव अम्बेडकर पुलिस अकादमी, मुरादाबाद ने आम जनमानस की सेवा के लिए दक्ष व प्रशिक्षित पुलिस अधिकारियों और सहायक अभियोजन अधिकारियों के लिए ट्रेनिंग कार्यक्रम का आयोजन किया। इसके लिए सभी प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षकों और प्रशिक्षु सहायक अभियोजन अधिकारियों को कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए बधाई। पुलिस उपाधीक्षक पद के 85वें आधारभूत प्रशिक्षण कोर्स के 30 अधिकारियों ने साढ़े 12 माह और सहायक अभियोजन पद के 30 अधिकारियों ने 03 माह का प्रशिक्षण सफलतापूर्वक प्राप्त किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अकादमी में इनडोर और आउटडोर, दोनों प्रकार के प्रशिक्षण सम्पन्न हुए हैं। इनडोर प्रशिक्षण में कानून व्यवस्था, विधि, मानवाधिकार, पुलिस रेग्युलेशन, साइबर क्राइम की जानकारी देकर पुलिस की कार्यप्रणाली और कानूनी पहलुओं की समझ विकसित की जाती है। आउटडोर प्रशिक्षण के अन्तर्गत शारीरिक स्फूर्ति और फिटनेस के लिए ड्रिल, पीटी एक्सरसाइज, जंगल ट्रेनिंग, घुड़सवारी और तैराकी का भी योग्य प्रशिक्षण प्रशिक्षुओं को अकादमी में दिया जाता है। दक्षता, पारदर्शिता, जवाबदेही और निष्ठा के साथ जनसेवा के प्रति संवेदनशील पुलिस बल की स्थापना में यह प्रशिक्षण बेहद कारगर है।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673