नई दिल्ली। देश में वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए कोरोना वायरस की अधिक से अधिक जांच मुहिम में 30 सितंबर को 14 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई और कुल परीक्षण का आंकड़ा साढ़े सात करोड़ के पार हो गया। यह दूसरा मौका है जब एक दिन में 14 लाख से अधिक नमूनों की एक दिन में जांच की गई। इससे पहले कोरोना वायरस के बड़े स्तर पर फैलाव की रोकथाम के लिये देश में दिन प्रतिदिन इसकी अधिक से अधिक जांच की मुहिम में 24 सितंबर को रिकार्ड 14 लाख 92 हजार 409 नमूनों की जांच की गई थी। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की तरफ से गुरुवार को जारी आंकड़ों में बताया गया कि देश में 30 सितंबर को कोरोना वायरस नमूनों की जांच 14 लाख 23 हजार 52 रही और कुल आंकड़ा सात करोड़ 56 लाख 19 हजार 781 पर पहुंच गया। देश में प्रति दस लाख की आबादी पर कोरोना जांच का औसत 54 हजार 773 है। देश में कोरोना वायरस का पहला मामला 30 जनवरी को सामने आया था। छह अप्रैल तक कुल जांच की संख्या मात्र दस हजार थी। इसके बाद वायरस के मामले बढ़ने के साथ ही नमूनों की जांच में भी तेजी आई। सात जुलाई को नमूनों की जांच संख्या एक करोड़ को छू गई और इसके बाद तेजी से बढ़ती गई। नमूनों की जांच ने 17 सितंबर को छह करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया और अब नौ दिन में ही एक करोड़ से अधिक जांच से यह सात करोड़ को लांघ गया।

blat