• January 23, 2021

सुरेश अंगड़ी : भारतीय राजनीति के अजेय योद्धा, जिन्होंने सिर्फ जीतना सीखा

 सुरेश अंगड़ी : भारतीय राजनीति के अजेय योद्धा, जिन्होंने सिर्फ जीतना सीखा

-रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का बुधवार को कोरोना वायरस बीमारी से हो गया निधन
-अंगड़ी कर्नाटक की बेलगाम लोकसभा सीट से पहली बार 2004 में चुने गए थे
-अंगड़ी कर्नाटक के प्रमुख लिंगायत समुदाय से आते थे, जिन्होंने उत्तरी कर्नाटक में बीजेपी का बड़ा जनाधार खड़ा किया

नई दिल्ली/बेंगलुरु। भारतीय राजनीति के इतिहास में अजेय रहे रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी बुधवार को कोरोना वायरस बीमारी से हार गए। 65 साल के सुरेश अंगड़ी का एम्स में इलाज चल रहा था। अंगड़ी कर्नाटक के प्रमुख लिंगायत समुदाय से आते थे, जिन्होंने खासकर उत्तरी कर्नाटक में बीजेपी का जनाधार खड़ा किया।

एक जून 1955 को पैदा हुए रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी कर्नाटक की बेलगाम लोकसभा सीट से चुने गए थे। उन्होंने बेलगाम सीट से चार बार जीत हासिल की। ऐसे में कहा जा सकता है कि अंगड़ी ने लोकसभा चुनाव में कभी हार का सामना नहीं किया क्योंकि उन्होंने पहली बार 2004 में चुनाव लड़ा था और उसके बाद से वह कभी नहीं हारे। वह सभी चुनावों में अजेय रहे।

अमरसिंह पाटिल को दो बार हराया
सुरेश अंगड़ी ने अपने पहले चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार और जाने-माने राजनेता और स्वतंत्रता सेनानी वसंतराव पाटिल के बेटे अमरसिंह पाटिल को हराया था। पांच साल बाद 2009 के लोकसभा चुनाव में भी सुरेश अंगड़ी ने एक बार फिर अमर सिंह पाटिल को हराया था।

मोदी लहर में अंगड़ी की नैया हुई पार
इसके बाद साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने सुरेश अगड़ी के खिलाफ एक और लोकप्रिय नेता लक्ष्मी आर. हेब्बल्कार को उतारा। इस बार सुरेश अंगड़ी की नैया मोदी लहर में पार हो गई और उन्होंने हेब्बल्कार को भी चुनाव में कड़ी शिकस्त दी।

2019 में कांग्रेस के वीएस साधुन्नवर को हराया
2019 में हुए पिछले लोकसभा चुनाव में सुरेश अंगड़ी ने कांग्रेस के उम्मीदवार वीएस साधुन्नवर को हराया। इस तरह लगातार चार लोकसभा चुनाव में अंगड़ी अजेय रहे और बीजेपी के जनाधार को लगातार मजबूत करते रहे।

किसान परिवार से थे सुरेश अंगड़ी
बीजेपी नेता सुरेश अंगड़ी का जन्म बेलगावी के नजदीक केके कोप्पा गांव में एक किसान परिवार में हुआ था। अंगड़ी ने कॉमर्स स्ट्रीम से स्नातक किया और कानून का कोर्स भी किया।

1996 में हुई राजनीति जीवन की शुरुआत
अंगड़ी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत 1996 में की थी जब उन्हें बेलगाम जिला बीजेपी उपाध्यक्ष बनाया गया था। इसके बार साल 2001 में भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें बेलगाम से बीजेपी जिला अध्यक्ष के रूप में चुना था।

बेलगाम सीट पर अजेय रहे अंगड़ी
बेलगाम के जिलाध्यक्ष के पद पर रहने के तीन साल बाद 2004 में बीजेपी की ओर से लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए सुरेश अंगड़ी को टिकट दिया गया था। इसके बाद उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार और तत्कालीन सांसद अमरसिंह पाटिल को हरा दिया। इसके बाद अंगड़ी इस सीट पर अजेय रहे।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4755