भोपाल। एमपी पावर मैनेजमेंट कम्पनी के अतिरिक्त महाप्रबंधक वीके साहू के मुख्य आतिथ्य में मध्यप्रदेश विद्युत परिवार हिन्दी समिति के तत्वावधान में सोमवार को जबलपुर में हिन्दी महोत्सव-2020 का आयोजन किया गया। इस अवसर पर साहू ने कहा कि हमारी हिन्दी भाषा विश्व में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है। किसी भी व्यक्ति को हिन्दी बोलने में हीन भावना महसूस नहीं होना चाहिये। हिन्दी भाषा बहुत सक्षम और व्यापक है। उन्होंने कहा कि हमें सभी भारतीय भाषाओं के साथ विदेशी भाषाओं को सीखने के लिये भी तत्पर रहना चाहिये। विदेश में सभी भारतीय स्वदेशी भाषाओं के साथ अन्य भारतीय बोलियों को सुनना और बोलना पसंद करते हैं। कार्यक्रम में मुख्य अभियंता सिविल विवेक रंजन श्रीवास्तव ने कहा कि भाषा ह्रदय तक जाती है और उसके शब्द मन में अखण्ड रूप से गूंजते हैं। यह विश्व में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है। इस मौके पर हिन्दी परिषद् के उपाध्यक्ष वरिष्ठ जनसम्पर्क अधिकारी राकेश पाठक ने हिन्दी महोत्सव-2020 के आयोजन के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के चलते इस वर्ष लोकप्रिय प्रतिस्पर्धा प्रश्न-मंच और साहित्यिक प्रश्न-मंच का सामूहिक आयोजन नहीं किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष बिजली अधिकारियों और कर्मचारियों के लिये निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। प्रतियोगिता में निर्धारित विषयों पर निबंध लिखकर 30 सितम्बर तक हिन्दी परिषद् के महासचिव राजेश पाठक के पास प्रेषित किया जा सकता है। एम.पी. पावर मैनेजमेंट कम्पनी के उप महाप्रबंधक आलोक श्रीवास्तव ने कहा कि हिन्दी केवल हमारी राष्ट्र भाषा मात्र ही नहीं है, बल्कि पूरे देश की सम्पर्क भाषा भी है। कार्यक्रम में एमपी पावर ट्रांसमिशन कम्पनी के कल्याण अधिकारी महेश तख्तानी, मिलिंद चौधरी, जयवंत खारपाटे तथा एनबी छत्री भी मौजूद थे।


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673