ऑरैकल करेगी अमेरिका में टिकटॉक का ‘अधिग्रहण’, माइक्रोसॉफ्ट का प्रस्ताव खारिज

वाशिंगटन। अमेरिका में लोकप्रिय वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक के अधिग्रहण की दौड़ में ऑरैकल ने माइक्रोसॉफ्ट को पछाड़ दिया है। सत्य नाडेला की अगुवाई वाली माइक्रोसॉफ्ट की टिकटॉक के अधिग्रहण की बोली को खारिज कर दिया गया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टिकटॉक के अमेरिकी परिचालन की बिक्री के लिए 20 सितंबर की समयसीमा तय की थी। ट्रंप ने कहा था कि यदि 20 सितंबर तक टिकटॉक की बिक्री किसी अमेरिकी कंपनी को नहीं की जाती है, तो इस ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। सूत्रों ने रविवार को कहा कि टिकटॉक का स्वामित्व रखने वाली कंपनी ने इस सौदे के लिए माइक्रोसॉफ्ट के बजाय ऑरैकल का चयन किया है। इस सौदे से अमेरिकी में यह लोकप्रिय ऐप चलन में बनी रह सकती है। माइक्रोसॉफ्ट ने रविवार कहा कि टिकटॉक का स्वामित्व रखने वाली चीन की कंपनी बाइटडांस ने उसे सूचित किया है कि इस अधिग्रहण के लिए उसकी बोली को खारिज कर दिया गया है। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा, ‘‘हमें भरोसा है कि हमारा प्रस्ताव टिकटॉक के प्रयोगकर्ताओं के लिए अच्छा है। साथ ही हम राष्ट्रीय सुरक्षा हितों का भी सरंक्षण करते।’’ इस बीच, ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ की एक रिपोर्ट के अनुसार अभी यह स्पष्ट नहीं है कि टिकटॉक द्वारा प्रौद्योगिकी भागीदार के रूप में ऑरैकल का चयन उसके (ऑरैकल) द्वारा सोशल मीडिया ऐप में बहुलांश हिस्सेदारी हासिल करने से भी है। ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑरैकल को टिकटॉक का प्रौद्योगिकी भागीदार घोषित किया जाएगा। इस सौदे को पूरी तरह सीधी बिक्री नहीं कहा जा सकता। इससे पहले वॉलमार्ट ने इस अधिग्रहण में माइक्रोसॉफ्ट के साथ भागीदारी की इच्छा जताई थी। वॉलमार्ट ने रविवार को कहा कि उसकी टिकटॉक में निवेश करने में रुचि है और वह इस बारे में बाइटडांस और अन्य पक्षों से बातचीत कर रही है। पूर्व में ट्रंप प्रशासन ने टिकटॉक पर 20 सितंबर तक प्रतिबंध लगाने की चेतावनी देते हुए बाइटडांस को निर्देश दिया था कि वह अमेरिका में अपने कारोबार को बेच दे। ट्रंप प्रशासन का कहना था कि टिकटॉक के चीन के स्वामित्व की वजह से यह ऐप अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है।

blat