बिहार के पू्र्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने सूबे में कोरोना से पनपे मौजूदा हालात को लेकर सीएम नीतीश कुमार कर जुबानी हमला बोला है। उन्होंने रविवार को कहा है- मैं नहीं चाहता क‍ि लोग बूथ से सीधे श्मशान जाएं। लाशों के ढेर पर हम चुनाव नहीं चाहते। अभी भी सीएम के पास सुविधाएं हैं। वे जा सकते हैं। एरियल सर्वे ही तो करना है। आपको डर लग रहा है, तो हेलीकॉप्टर से जाइए। फिर भी वह बाहर नहीं निकल रहे हैं।

इसी बीच, बिहार में 25 जुलाई ( शनिवार को ) कोरोना के कुल 1294 ताजा मामले सामने आए, जबकि 1311 केस 24 जुलाई और उससे पहले के सिस्टम (बिहार हेल्थ डिपार्टमेंट के रिकॉर्ड में) में अपडेट किए गए। अब सूबे में कुल कोरोना के केस बढ़कर 38919 हो गए हैं। बता दें कि सूबे में 28 जून तक कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से काफी अधिक थी। यह 78.5 फीसदी तक पहुंच गया था। लेकिन, उसके बाद कोरोना विस्फोट के बाद इस रेट में गिरावट आई है। हालांकि अभी बिहार का रिकवरी दर राष्ट्रीय औसत 63.45% से 4 फीसदी अधिक है। पिछले तीन दिनों में ये बढ़ोत्तरी आई है। इस बीच सीएम नीतीश कुमार ने कोरोना टेस्टिंग ऑन डिमांड बढ़ाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।

बिहार में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 13 लोगों की मौत हो गई। राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 232 हो गई है। वहीं 2,803 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 36,314 हो गई है। यह अबतक का रिकॉर्ड है। पटना में लगातार दूसरे दिन 500 से ऊपर यानी 536 मरीज मिले। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 24 जुलाई को 1021 और 23 जुलाई को 1782 नए संक्रमितों की पहचान की गई। हालांकि, इतनी बड़ी संख्या में नए संक्रमितों के मिलने के बारे में स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि सैंपल टेस्ट का बैकलॉग खत्म करने की वजह शनिवार को संक्रमितों की संख्या इतनी बढ़ी है।

रिपोर्ट रणधीर कुमार झा


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/newswebp/theblat.in/wp-includes/functions.php on line 4673