कोरोना काल में ग्रामीण क्षेत्र ने पूरे देश को दिशा दिखाई: मोदी

नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि कोरोना काल में ग्रामीण क्षेत्र ने पूरे देश को दिशा दिखाई है। कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम के संबंध में जम्मू-कश्मीर की प्रेकर घटनाओं का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि गांवों के स्थानीय नागरिकों और ग्राम पंचायतों के अनेक अच्छे प्रयास लगातार सामने आ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने श्मन की बातश् रेडियो कार्यक्रम के दौरान जम्मू के त्रेवा गांव की सरपंच बलवीर कौर के कार्यों का जिक्र करते हुए कहा, ष्मुझे बताया गया है कि बलवीर कौर ने अपनी पंचायत में 30 बेड का एक क्वारंटीन सेंटर बनाया है। पंचायत आने वाले रास्ते पर पानी की व्यवस्था की ताकि लोगों को हाथ धोने में कोई कठिनाई न हो।

इतना ही नहीं, बलवीर कौर अपने कंधे पर स्प्रे पंप टांग कर वॉलेंटियर के साथ पूरी पंचायत और आसपास के क्षेत्र में सैनिटाइजेशन भी करती हैं। मोदी ने जम्मू-कश्मीर की एक और महिला सरपंच गांदरबल के चौंटलीवार की सरपंच जैतूना बेगम के कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा, ष्जैतूना बेगम ने तय किया कि उनकी पंचायत कोरोना के खिलाफ जंग लड़ेगी और कमाई के लिए अवसर भी पैदा करेगी। उन्होंने पूरे इलाके मुफ्त मास्क बांटे। मुफ्त राशन बाटा। साथ ही उन्होंने लोगों को फसलों के बीज और सेब के पौधे भी दिए ताकि लोगों को खेती और बागवानी में दिक्कत न आए। प्रधानमंत्री ने कश्मीर से एक और प्रेरक प्रसंग का जिक्र किया। उन्होंने कहा, ष्अनंतनाग में म्यूनिसिपल प्रेसीडेंट हैं मोहम्मद इकबाल जिन्हें अपने इलाके में सैनिटाइजेशन के लिए स्प्रेयर की जरूरत थी। उन्हें मालूम हुआ कि मशीन दूसरे शहर से लानी होगी जिसकी कीमत छह लाख रुपये होगी। इकबाल ने खुद ही प्रयास करके केवल 50,000 रुपये में मशीन बना ली। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में देश के कोने-कोने में ऐसी कई प्रेरक घटनाएं रोज सामने आती हैं। उन्होंने कहा कि लोगों के सामने चुनौती आई और उन्होंने उतनी ही उतनी ही ताकत से उसका सामना भी किया है।

blat