समस्तीपुर में पीएचसी को कोविड केयर सेंटर बनाने के विरोध, पुलिस पर पथराव।

मोरदीवा पीएचसी को कोविड अस्पताल बनाने के प्रशासन के निर्णय से नाराज आसपास के ग्रामीणों ने शुक्रवार को जमकर बवाल किया। जिससे उन्हें नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान ग्रामीणों ने भी पुलिस पर रोड़े बरसाये, लेकिन अंत में पुलिस के उग्र रूप को देख सभी भाग निकले.
समस्तीपुर । मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मोरदीवा स्थित पीएचसी को कोविड केयर सेंटर बनाए जाने के विरोध में शुक्रवार को स्थानीय ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। पीएचसी में तालाबंदी कर जिला प्रशासन के विरोध में नारेबाजी की। सूचना पर पहुंचे बीडीओ, सीओ समेत पुलिसकर्मियों को भी स्थानीय ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। पुलिस को देखते ही लोग उग्र हो गए और रोड़ेबाजी भी की। उपद्रवियों को शांत करने के लिए पुलिस ने लाठियां चटकाई। हंगामा कर रहे एक युवक को हिरासत में ले लिया। पीएचसी के आसपास की जगह को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है।
कोरोना महामारी संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को लेकर जिला प्रशासन द्वारा उक्त पीएचसी को कोविड केयर सेंटर में तब्दील करने का निर्णय लिया गया था। इसकी जानकारी ग्रामीणों को मिलते स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए। शुक्रवार को जब जिला प्रशासन की टीम वहां पहुंची तो स्थानीय ग्रामीणों ने पीएचसी में जाने से रोक दिया। पीएसची में तालाबंदी कर दी। स्थानीय लोगों ने बताया कि पीएचसी के आसपास ग्रामीणों की घनी आबादी है। केयर सेंटर बनाए जाने के बाद लोगों को संक्रमण का खतरा हो सकता है। इसको लेकर ग्रामीण आशंकित हैं।
सूचना पर दलबल के साथ पहुंचे बीडीओ अंजन दत्ता, सीओ धर्मेंद्र पंडित और मुफस्सिल थानाध्यक्ष विक्रम आचार्य ने ग्रामीणों को काफी समझाने का काफी प्रयास किया। इस दौरान उपद्रवियों ने रोड़ेबाजी कर दी। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उग्र लोगों पर लाठियां चटकाई। घटना में ग्रामीणों के साथ कुछ पुलिसकर्मी के भी चोटिल होने की सूचना है। सूचना पर पहुंचे सदर एसडीओ अशोक मंडल और सदर डीएसपी प्रीतिश कुमार ने पीएसची का ताला तोड़वाकर सामान को शिफ्ट कराया।

रिपोर्ट रणधीर कुमार झा