समस्तीपुर की बहू पूनम ने बनाया इको फ्रेंडली प्रेगनेंसी टेस्ट किट, ‘वीस्योर’ नमक यह किट कागज से है निर्मित.

समस्तीपुर जिले की बहु पूनम गुप्ता ने कागज से निर्मित इको फ्रेंडली प्रेगनेंसी टेस्ट किट बनाया है। इसी वर्ष अप्रैल में उनके इनोवेशन को भारतीय पेटेंट प्रदान किया गया है। अब तक देश-विदेश में निर्मित सभी प्रेगनेंसी टेस्ट किट प्लास्टिक के बने होते हैं। नन बॉयोडिग्रेडेबल होने के कारण जब उसे उपयोग के बाद फेंक दिया जाता है तो वह मिट्टी व पर्यावरण के लिए परेशानी का सबब बन जाता है। ऐसी स्थिति में पूनम द्वारा निर्मित किट एक नया इनोवेशन बनकर सामने आया है। यह किट 60 सेकेंड में रिजल्ट देता है।
कौन है पूनम : पूनम पटोरी प्रखंड के चकसलेम निवासी शिवचंद्र ठाकुर एवं सुनैना देवी के बेटे गौतम कुमार की पत्नी है। गौतम दिल्ली में सफल युवा उद्यमी हैं। पूनम का मायका धनबाद स्थित नया बाजार (कबाड़ीखाना) में है। उसके पिता एसएन टिल्ली देश के जाने माने मार्शल आर्ट्स खिलाड़ी व मां आशा गुप्ता गृहिणी हैं।
इंजीनियरिंग के बाद किया एमबीए : पूनम व उसके पति गौतम ने भुवनेश्वर इंजीनियरिंग कॉलेज से इलेक्ट्रिक-इलेक्ट्रॉनिक्स में बीटेक की डिग्री लेने के बाद दिल्ली के जीटी यूनिवर्सिटी से एमबीए की पढ़ाई पूरी की। पूनम को एक आईटी कंपनी में आईटी कंसलटेंट की नौकरी मिल गई। इस बीच दोनों ने शादी कर ली। वर्ष 2017 में नौकरी छोड़ कर पूनम अपने पति के साथ एक उद्यमी के रूप में कार्य करने लगी। इसी दौरान जब वह प्रेग्नेंट हुई तो टेस्टिंग की परेशानियों को ध्यान में रखकर उन्हें पर्यावरण के अनुकूल किट बनाने की आवश्यकता महसूस हुई। कागज से बने इस किट से मात्र 60 सेकंड में ही प्रेगनेंसी रिपोर्ट मिल जाती है। इसकी कीमत प्रति इकाई 75 रुपए होगी।

कई राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय सम्मान पा चुकी है पूनम : ‘वीस्योर’ नामक इस किट के इनोवेशन के बाद पूनम ने 2018 में ही नोएडा में स्टार्टअप शुरू किया था। पूनम के स्टार्टअप को कई पुरस्कार मिल चुके हैं। वर्ष 2018 में कनाडा सरकार ने युवा उद्यमी पुरस्कार ‘इम्पावर’ से सम्मानित किया। इस पुरस्कार के साथ उन्हें अपने स्टार्टअप के लिए पांच लाख रुपए की सीड मनी मिली। इसमें उन्होंने अपने 8 लाख रुपए और जोड़कर अपने स्टार्टअप का विस्तार किया। देश की जानी-मानी बॉयोलॉजिस्ट किरण मजूमदार शॉ के फाउंडेशन ने भी उन्हें वर्ष 2019 में देश की 30 प्रतिभावान युवा महिला उद्यमी के तौर पर सम्मानित किया था। कोरोना काल के कारण अभी पूनम का उत्पाद बाजार में नहीं आया है परंतु उम्मीद है कि सितंबर से यह किट भारतीय बाजारों के अलावा ई-कॉमर्स प्लेटफार्म द्वारा देश और विदेश के बाजारों में भी उपलब्ध हो जाएगा।

रिपोर्ट रणधीर कुमार झा